रायबरेली: विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा महिला सशक्तिकरण अभियान का आयोजन

0
105

मनीष अवस्थी


रायबरेली। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ तथा मा0 अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/जनपद न्यायाधीश, रायबरेली अब्दुल शाहिद के दिशा-निर्देशन में आजादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायबरेली के द्वारा विगत माह 02 अक्टूबर 2021 से 14 नवम्बर 2021 तक वृहद स्तर पर विधिक साक्षरता एवं जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत राष्ट्रीय महिला आयोग के सहयोग से तहसील सदर स्थित सभागार में महिलाओं के विधिक अधिकार विषय पर विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर आयोजन का शुभारम्भ जनपद न्यायाधीश अब्दुल शाहिद व महिला आयोग की सदस्य अंजू प्रजापति द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। जनपद न्यायाधीश अब्दुल शाहिद द्वारा महिलाओं के विधिक अधिकार विषय पर विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। जनपद न्यायाधीश ने समान अधिकार कानून पर विशेष जोर देते हुए बताया कि समाज में महिलाओं को भी वही अधिकार है जो पुरुषों को है। उन्होंने महिलाओं के मौलिक अधिकारों के साथ-साथ मौलिक कर्तव्यों के सम्बन्ध में चर्चा करते हुए कहा गया कि मौलिक अधिकार व मौलिक कर्तव्य के बीच एकरूपता बनी रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आज के समय में जीवन प्रबंधन व सामाजिक प्रबंधन सीखना है तो वह महिलाओं से सीखा जा सकता है। इसके साथ ही आपसी विवाद को सुलह समझौते से निस्तारण किये जाने पर चर्चा की गयी।
उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य अंजू प्रजापति के द्वारा महिलाओं को सरकार की विभिन्न निःशुल्क योजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी एवं उन्हें मानसिक विकास के प्रति सदैव सजग रहने हेतु प्रेरित किया गया सदस्य द्वारा महिलाओं को निःशुल्क महिला हेल्पलाइन 181 के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में उपस्थित शाहीन शाहिद द्वारा बताया गया कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उनका विधिक रूप से जागरूक होना अति आवश्यक है। आज समाज के सभी क्षेत्रों में पुरुषों के बराबर महिलाएं भी योगदान दे रही है। इसके अतिरिक्त उक्त कार्यक्रम को सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सुमित कुमार, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शिल्पी रानी, सी0ओ0 सिटी वन्दना सिंह, डिप्टी जेलर वन्दना गौतम, नर्सेस एसोसिएशन की अध्यक्षा शशिबाला सिंह, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की रिसोर्स पर्सन शैलजा सिंह व वन स्टाप सेन्टर की संचालिका श्रद्धा सिंह भदौरिया के द्वारा भी सम्बोधित किया गया। इस कार्यक्रम में शिक्षिकाये, गैर सरकारी संगठन की समाजिक कार्यकर्ता, आशाबहु, आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, सदस्य बाल कल्याण समिति, अन्य सम्मानित महिलाएं, बाल संरक्षण अधिकारी व पराविधिक स्वयं सेवक के द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम का संचालन हरचन्दपुर प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत शिक्षिका वन्दना द्विवेदी ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.