मौसम की छींटाकशी के बीच संपन्न हुई सात दिवसीय महामाया माता की पूजा।

0
205

रिपोर्ट नितिन शुक्ला


300 वर्षो से निरंतर हर तीसरे वर्ष समस्त ग्रामवासियों के सहयोग से संपन्न कराई जाती है पूजा।


सरेनी, रायबरेली। ब्लॉक क्षेत्र सरेनी के धूरेमऊ ग्राम सभा में स्थापित मां महामाया मंदिर की पूजा विगत लगभग 300 वर्षो से निरंतर हर तीसरे वर्ष समस्त ग्रामवासियों के सहयोग से संपन्न कराई जाती है। इस पूजा का प्रचलन आचार्य गुलाब बाबा जी द्वारा किया गया था। ऐसा विदित है कि एक बार गांव में इस कदर भयंकर महामारी आई जिसके कहर से लोग एक एक करके मरने लगे अर्थात् उस महामारी ने ग्रामवासियों के दिलो दिमाग में दहशत उत्पन्न कर दिया, तदुपरान्त लोग गांव छोड़ने को मजबूर हुये। तब आचार्य गुलाब बाबा की अगुवाई में महामारी से सभी को निजात दिलाने के लिए इस पूजा का आयोजन किया गया था। जो आज तक लगातार पूरी विधिविधान से की जाती है। जिसमे गांव के ही मां अचिंती देवी के मंदिर में सात दिन तक लगातार सात आचार्यों द्वारा देवीपाठ करते हुवे छठवें दिन मां अनिंदी देवी के मंदिर में हवन व कन्याभोज करके सातवें दिन पंचवक्तेश्वर बाबा में हवन होने के पश्चात तकरीबन 12:30 बजे माता जी की मूर्ति को पूरे हर्षोल्लास के साथ ले जाकर गांव के बाहर बने माताजी के मंदिर में स्थापना की जाती है। इस वर्ष 14 जून दिन सोमवार को पाठ बैठाया गया था और आज सातवें दिन शांतिपूर्वक पूजा संपन्न हुई । उधर गांव के चौराहे पर नवनिर्वाचित बीडीसी अमित कुमार की अगुवाई में एवं उनके मोहल्लेवासियों के सहयोग से भंडारे का भी आयोजन रखा गया था। जिसमे लगभग समस्त ग्रामवासियों और राहगीरों ने बढ़ चढ़कर माता जी का प्रसाद ग्रहण किया। हालांकि इस बार पिछले दो-तीन दिन से बारिश और कोविड-19 के चलते पिछले वर्षो की अपेक्षा कुछ कम श्रद्धालु ही देवी मां के दर्शनार्थ हेतु पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.