शिवाजी नगर वासियों ने लो वोल्टेज को लेकर सिटी मजिस्ट्रेट को दिया ज्ञापन

1
294

मनीष अवस्थी


रायबरेली के शिवाजी नगर मोहल्ले की विद्युत आपूर्ति आईटीआई पावर हाउस से होती है। लगभग 10 वर्षों से लो वोल्टेज की समस्या की मार मोहल्ले वासी सहन कर रहे हैं। आए दिन कोई न कोई विद्युत उपकरण फुंक जाते हैं। भीषण गर्मी और कोरोनाकाल में पंखे सिर्फ धीमे धीमे घूमते नजर आते हैं। लगातार शासन प्रशासन को लिखित प्रार्थना पत्र और मौखिक रूप से मांग की जाती है कि नए ट्रांसफार्मर लगवाए जाएं, किंतु किसी के कान में जूं तक नहीं रेंगती। 10 से 12 पृष्ठ का प्रार्थना पत्र कहीं रजिस्टर्ड डाक से तो कहीं व्यक्तिगत तौर पर रिसीव कराया जाता है, पर ऐसा लगता है सम्बंधित अधिकारियों के पास पूरे प्रपत्र पढ़ने को ही फुर्सत नहीं है। किस प्रकार हल निकालेंगे।आइजीआरएस, तत्कालीन जिलाधिकारी मैडम, मुख्यमंत्री महोदय, सांसद सोनिया गांधी जी को ईमेल, अधीक्षण अभियंता, मंडल अभियंता लखनऊ, विद्युत हेल्पलाइन आदि को कॉल करते और पत्र लिखते-लिखते मोहल्ले वासी थक चुके हैं, परंतु उम्मीद की किरण दूर-दूर तक नजर नहीं आती है। जिससे लोगों का सब्र का बांध टूट गया। आज दिनांक 7 जुलाई 2021 को जिलाधिकारी महोदय से मिलने के लिए सैकड़ों लोग आने को तैयार थे, किंतु कोरोना गाइडलाइंस को मद्देनजर रखते हुए कुछ लोगों ने पूर्व में सभी प्रार्थना पत्रों की छायाप्रतियों सहित 12 पेज का ज्ञापन जिलाधिकारी महोदय के निर्देशन में सिटी मजिस्ट्रेट श्री युवराज सिंह को दिया। सिटी मजिस्ट्रेट ने सार्थक आश्वासन दिया है कि एमडी लखनऊ से बात करेंगे। अधिशासी अभियंता श्री ओपी सिंह ने 27 अगस्त 2020 को आईजीआरएस के माध्यम से अशोक कुमार को सूचित किया था की क्षमता वृद्धि हेतु 400 केवीए का ट्रांसफार्मर एवं एक अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगवाने के लिए शासन को लिखा जा चुका है। ऐसा क्या कारण है कि 10 माह बाद भी ट्रांसफार्मर नहीं लग पाया है। किससे हम लोग निवेदन करें तो समस्या हल हो सके। बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि बिजली बिजली विभाग की लालफीताशाही के आगे लगभग 1200 लोगों की आबादी हार गई। ज्ञापन देते समय शिवपाल सिंह ने कहा कि हम लोग भीषण गर्मी में शारीरिक आर्थिक मानसिक रूप से पीड़ित हैं, किंतु विभाग का कोई कर्मचारी तक झांकने नहीं आता है। आखिर हम लोग अब शिकायत लेकर कहां जाएं?
शत्रुघ्न सिंह, शिवगोपाल सिंह ने बताया कि जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान रायबरेली के निकट लगभग 35 वर्ष पूर्व शिवा जी नगर मोहल्ला की नींव रखी गई थी। कुछ समय बाद 250 केवीए का एक ट्रांसफार्मर रखा गया था जिससे विद्युत आपूर्ति होती थी। आज लगभग 1200 की आबादी है। तब 250 केवीए का ट्रांसफार्मर कैसे लोड उठा सकता है? कनेक्शन बढ़ रहे हैं तो, बिजली विभाग की आय में भी बढोत्तरी हो रही है। बिल पूरा लिया जा रहा है तो बिजली आधी क्यों मिल रही है?
लो वोल्टेज की समस्या को बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और अब भारतीय जनता पार्टी देख रही है, किंतु हल किसी पार्टी के पास नहीं है। चुनावों के समय वादे किए जाते हैं, मतदान होते ही सब भूल जाते हैं। जनप्रतिनिधि अगर जरा भी मोहल्ले वासियों के दुखड़ा समझते तो ये छोटी सी समस्या कब को हल हो गयी होती। आक्रोष और दुःख प्रकट करते हुए कुछ लोगों ने कहा कि 14 अगस्त 2021 तक समस्या हल न हुई, तो 15 अगस्त को मतदान सम्बन्धी बड़ा निर्णय लिया जा सकता है। उप मुख्यमंत्री माननीय दिनेश शर्मा के प्रभार वाले जिला का ये हाल है तो अन्य जिलों के हालातों का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है।
इस अवसर पर शत्रुघ्न सिंह, घनश्याम सिंह, अनुराग सिंह, राज मिश्रा, हिमांशु, सन्तोष गुप्ता, राहुल सिंह, पंकज श्रीवास्तव, अभिनव, इंद्रा बहादुर सिंह, प्रदीप सिंह, कमलेश कुमार, दीपू, लकी सिंह चौहान, बंशी लाल, शशांक शर्मा, अजीत प्रताप सिंह आदि उपस्थित थे।

1 COMMENT

  1. बिजली विभाग के अधिकारियों को जगाने के लिए आप आगे आये हैं, जिसके लिए धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.