कोरोना संकटकाल में संजीवनी बनकर आए हैं डाकघर

0
467

मनीष अवस्थी


रायबरेली में पिछले 2 महीनों में घर बैठे साढे नौ करोड़ का किया गया भुगतान


रायबरेली। भारतीय डाक विभाग के वृहद नेटवर्क के कारण ही इसे अति आवश्यक गुण सेवाओं में रखा गया एवं लॉकडाउन में भी विभाग की सारी व्यवस्थाएं सुचारू रुप से चलती रही।
रायबरेली के डाक अधीक्षक सुनील कुमार सक्सेना ने बताया कि 25 जून से अब तक 48000 से अधिक लोगों को 9:30 करोड़ से अधिक धनराशि घर बैठे डाकिया के माध्यम से आहरित कराई गई है।

यही नहीं, डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने के लिए इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के 13000 से अधिक खाते भी 25 जून से 31 अगस्त के बीच में ही खोले गए। रायबरेली मंडल के डाक अधीक्षक द्वारा किए गए कार्यों की सराहना हर जगह हो रही है। लखनऊ परिक्षेत्र के सभी जिलों में रायबरेली ने आईपीपीबी खाता खोलने एवं एइपीएस ट्रांजैक्शन में द्वितीय स्थान हासिल किया।
इसी शानदार कार्यशैली के चलते निदेशक डाक सेवा लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र कृष्ण कुमार यादव ने भी रायबरेली डाक अधीक्षक को शुभकामनाएं दी।
जनपद की अग्रणी स्वयंसेवी संस्था संकल्प फाउंडेशन ने भी डाक अधीक्षक की कार्यशैली को अनुकरणीय बताया एवं पुष्प गुच्छ भेंट कर शुभकामनाएं भी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.