एनएच 30 का सफर होगा हाईटेक,यात्रियों को मिलेंगे अनेकों सुविधाएं

0
181

ऋषी मिश्रा


बछरावां रायबरेली। एनएच-30 (पुराना नाम एनएच-24 बी) पर लगाए जा रहे एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम से लखनऊ-प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग पर लखनऊ से रायबरेली तक सफर करने वाले वाहन सवारों और यात्रियों को आंधी, पानी, डायवर्जन व दुर्घटना के दौरान मेडिकल सेवाएं अब तत्काल उपलब्ध हो सकेंगी । इसके लिए एनएचआई की ओर से लखनऊ-रायबरेली टोल वे लिमिटेड वीएसडी, वीएमएस, सीसीटीवी कैमरे व मेट लगवाए जाने का कार्य प्रगति पर है ।
एनएच-30 (लखनऊ-प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग) पर सफर करने वाले यात्रियों व वाहन सवारों को अब एक्सप्रेस वे जैसी सुविधाएं मिलने जा रही हैं । यातायात व्यवस्था सुगम और सरल बनाने के लिए एनएचआई ने कार्य की रफ्तार बढ़ा दी है । किलोमीटर 12700 (उतरेठिया, लखनऊ) से 82700 ( सिविल लाइंस, रायबरेली) तक ओफसी (आप्टिकल फाइबर केबल) बिछा दी गई है। सौ सीसीटीवी कैमरे प्रस्तावित हैं । जिसमें पंद्रह सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं। इन सीसीटीवी कैमरों की मदद से एनएचआई को यात्रियों को होने वाली असुविधाओं और दुर्घटनाओं की जानकारी तत्काल मिल जाएगी। जिससे वह यथाशीघ्र मदद उपलब्ध करा सकेंगे। अभी तक यह जानकारी आम जनता के द्वारा उनको प्राप्त होती थी। छ: वीएसडी सिस्टम लगाए जाएंगे। वीएसडी की मदद से एनएच-30 से गुजर रहे वाहनों की रफ्तार का पता लगाया जा सकेगा। चौदह वीएमएस सिस्टम भी लगेंगे। वीएमएस की मदद से वाहन सवारों को यह जानकारी मिल जाएगी। कि आगे डायवर्जन है या फिर किसी दुर्घटना के कारण जाम लगा हुआ है। टोल प्लाजा पर एक मेट लगाया जाएगा। जिससे टोल प्लाजा पर पहुंचने के बाद आगे आंधी, पानी व मौसम की जानकारी मिल जाएगी। इस बाबत लखनऊ-रायबरेली टोल वे लिमिटेड के परियोजना अनिरुद्ध सिंह ने बताया की एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम की मदद से यातायात की मानिटरिंग हो सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.