बछरावां की कान्हा गौशाला को आम जनमानस ने जिलाधिकारी से आदर्श गौशाला घोषित करने का किया आग्रह

0
235

रिपोर्ट ऋषी मिश्रा


(क्षमता से अधिक पशुओं की कुशलता पूर्वक कान्हा गौशाला कर रही है रख रखाव)


बछरावां रायबरेली — बछरावां नगर पंचायत प्रशासन द्वारा संचालित देवपुरी गांव में स्थित कान्हा गौशाला क्षेत्र में लगभग 6 माह पूर्व संचालित की गई थी। संचालन से पूर्व नगर पंचायत प्रशासन व क्षेत्र के प्रबुद्ध जनों के अथक प्रयास से उत्कर्ष पब्लिक इंटर कॉलेज, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज व दयानंद पीजी कॉलेज के बच्चों द्वारा बाउंड्री वॉल पर वॉल पेंटिंग की गई थी। जो उसकी सुंदरता में चार चांद लगा रही है। जब से कान्हा गौशाला का संचालन हुआ है। तभी से ही नगर व क्षेत्र के किसानों को फसल की रखवाली से काफी हद तक निजात मिल गई है। वर्तमान समय में यह कान्हा गौशाला अपनी 200 पशुओं की क्षमता से अधिक 251 पशुओं का रखरखाव की जिम्मेदारी कुशलतापूर्वक सहेजे हुए हैं। कान्हा गौशाला में पशुओं के पीने के लिए समरसेबल भी लगा हुआ है वही नगर पंचायत प्रशासन द्वारा पशुओं के लिए पर्याप्त चारे की व्यवस्था भी की गई है। वहीं चारा पानी के लिए नगर पंचायत प्रशासन द्वारा 12 सफाई कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है जो सुबह व शाम पशुओं की देखभाल करके उनके चारा पानी की व्यवस्था करते हैं। कान्हा गौशाला की व्यवस्थाओं को स्वयं नगर पंचायत बछरावां के अधिशासी अधिकारी अजीत कुमार बागी व नगर पंचायत अध्यक्ष शिवेंद्र सिंह उर्फ राम जी बीच-बीच में जाकर करते हैं। कान्हा गौशाला में स्थित पशुओं के स्वास्थ परीक्षण पशु चिकित्सा अधिकारी बछरावां पीके शर्मा द्वारा किया जाता हैं। कान्हा गौशाला में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है। जिससे महामारी का संक्रमण भी ना हो सके समय-समय पर पशुओं के चिकित्सीय उपचार की भी समुचित व्यवस्था की गई है। कुशलतापूर्वक कान्हा गौशाला के संचालन को देखते हुए आम जनमानस, जनप्रतिनिधियों व प्रबुद्ध जनों ने जिलाधिकारी से मांग की है कि बछरावां नगर पंचायत द्वारा संचालित इस कान्हा गौशाला को आदर्श कान्हा गौशाला का दर्जा प्रदान किया जाए। जिससे यह कान्हा गौशाला प्रदेश की गौशालाओं के लिए एक मिसाल बन सके।
इनसेट — नगर पंचायत बछरावां की कान्हा गौशाला जनपद में कीर्तिमान स्थापित कर रही है अपने 200 पशुओं की क्षमता से अधिक 251 पशुओं का कुशलतापूर्वक रखरखाव व समुचित व्यवस्थाएं अपने कर्मचारियों द्वारा प्रदान कर रही है जब से क्षेत्र में कान्हा गौशाला का संचालन हुआ है तब से बछरावां नगर हुआ क्षेत्र के किसानों को काफी हद तक पशुओं की रखवाली से निजात मिल गया है।बछरावां की कान्हा गौशाला को आम जनमानस ने जिलाधिकारी से आदर्श गौशाला घोषित करने का किया आग्रह

(क्षमता से अधिक पशुओं की कुशलता पूर्वक कान्हा गौशाला कर रही है रख रखाव)

बछरावां रायबरेली — बछरावां नगर पंचायत प्रशासन द्वारा संचालित देवपुरी गांव में स्थित कान्हा गौशाला क्षेत्र में लगभग 6 माह पूर्व संचालित की गई थी। संचालन से पूर्व नगर पंचायत प्रशासन व क्षेत्र के प्रबुद्ध जनों के अथक प्रयास से उत्कर्ष पब्लिक इंटर कॉलेज, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज व दयानंद पीजी कॉलेज के बच्चों द्वारा बाउंड्री वॉल पर वॉल पेंटिंग की गई थी। जो उसकी सुंदरता में चार चांद लगा रही है। जब से कान्हा गौशाला का संचालन हुआ है। तभी से ही नगर व क्षेत्र के किसानों को फसल की रखवाली से काफी हद तक निजात मिल गई है। वर्तमान समय में यह कान्हा गौशाला अपनी 200 पशुओं की क्षमता से अधिक 251 पशुओं का रखरखाव की जिम्मेदारी कुशलतापूर्वक सहेजे हुए हैं। कान्हा गौशाला में पशुओं के पीने के लिए समरसेबल भी लगा हुआ है वही नगर पंचायत प्रशासन द्वारा पशुओं के लिए पर्याप्त चारे की व्यवस्था भी की गई है। वहीं चारा पानी के लिए नगर पंचायत प्रशासन द्वारा 12 सफाई कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है जो सुबह व शाम पशुओं की देखभाल करके उनके चारा पानी की व्यवस्था करते हैं। कान्हा गौशाला की व्यवस्थाओं को स्वयं नगर पंचायत बछरावां के अधिशासी अधिकारी अजीत कुमार बागी व नगर पंचायत अध्यक्ष शिवेंद्र सिंह उर्फ राम जी बीच-बीच में जाकर करते हैं। कान्हा गौशाला में स्थित पशुओं के स्वास्थ परीक्षण पशु चिकित्सा अधिकारी बछरावां पीके शर्मा द्वारा किया जाता हैं। कान्हा गौशाला में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है। जिससे महामारी का संक्रमण भी ना हो सके समय-समय पर पशुओं के चिकित्सीय उपचार की भी समुचित व्यवस्था की गई है। कुशलतापूर्वक कान्हा गौशाला के संचालन को देखते हुए आम जनमानस, जनप्रतिनिधियों व प्रबुद्ध जनों ने जिलाधिकारी से मांग की है कि बछरावां नगर पंचायत द्वारा संचालित इस कान्हा गौशाला को आदर्श कान्हा गौशाला का दर्जा प्रदान किया जाए। जिससे यह कान्हा गौशाला प्रदेश की गौशालाओं के लिए एक मिसाल बन सके।
इनसेट — नगर पंचायत बछरावां की कान्हा गौशाला जनपद में कीर्तिमान स्थापित कर रही है अपने 200 पशुओं की क्षमता से अधिक 251 पशुओं का कुशलतापूर्वक रखरखाव व समुचित व्यवस्थाएं अपने कर्मचारियों द्वारा प्रदान कर रही है जब से क्षेत्र में कान्हा गौशाला का संचालन हुआ है तब से बछरावां नगर हुआ क्षेत्र के किसानों को काफी हद तक पशुओं की रखवाली से निजात मिल गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.