कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए गांव पहुंचकर जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को किया जागरूक…

0
453

मनीष अवस्थी

रायबरेली। शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण क्षेत्रों की तरफ कोरोना अपना पांव पसार रहा है। जिसके चलते गांव में भी लोग संक्रमित होकर जीवन मृत्यु के बीच जंग लड़ने के लिए मजबूर हो रहे हैं। जिसके चलते जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग की टीम लेकर गांव गांव जाकर कोरोना टेस्ट करवा रहे हैं। साथ ही लोगों को कोरोना से संबंधित नियमों व बचाव को लेकर जागरूक भी कर रहे हैं । मंगलवार को भी हरचंदपुर थाना क्षेत्र के कठवारा गांव पहुंचकर डीएम ने लोगों को जागरूक किया और जो लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे थे उनके खिलाफ कोरोना महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई के निर्देश भी दिए।
हरचंदपुर थाना क्षेत्र के कठवारा गांव जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी अंशिका दीक्षित, पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची और लोगों को कोरोना टेस्ट कराने के लिए जागरूक किया। साथ ही कोरोना महामारी के नियमों व उससे बचाव के तरीके भी जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव व उप जिलाधिकारी अंशिका दीक्षित ने बताएं। लोगों को घरों से निकालकर सभी का कोरोना टेस्ट कराया गया जो संक्रमित पाए गए उनको दवा दी गई और एहतियात बरतने के लिए तरीके बताए गए।

साथी जिनको सर्दी खांसी या बुखार के लक्षण थे और कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया उनको भी दवा देकर सावधानी बरतने के निर्देश प्रशासनिक अधिकारी व स्वास्थ्य की टीम द्वारा दिया गया ।

सबसे खास बात जिलाधिकारी के साथ टीम को देखकर कुछ लोग अपने घरों में अंदर से कुंडी बंद कर लिए और घरों से बाहर नहीं निकल रहे थे। काफी मोटिवेट करने के बाद भी जब वह लोग नहीं निकले तो डीएम को कड़ा रुख अख्तियार करना पड़ा। माइक से एनाउंस करते हुए जिलाधिकारी व उप जिलाधिकारी ने साफ शब्दों में कहा यदि घरों से बाहर आप नहीं निकलते हो और कोरोना टेस्ट नहीं कराते हो तो जो सरकारी सुविधाएं मिली हुई हैं उनको उससे आपको वंचित होना पड़ेगा। साथ ही कोरोना महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही भी की जाएगी।
इस तरह गांव में अभी भी इस बात का खौफ दिखाई पड़ा कि यदि कोरोना टेस्ट करवाया गया और उसमें पॉजिटिव मिले तो उन्हें L2 अस्पताल जाना पड़ेगा। L2 अस्पताल की भयावह स्थिति गांव तक पहुंच चुकी है जिसके कारण लोगों में भय व्याप्त है ।हालांकि अधिकारियों ने साफ किया कि यदि कोई पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे उन्हीं के घर में होम कोरेंटीन करके उनका उपचार कराया जाएगा। बावजूद इसके लोग घरों से बाहर निकलने के लिए तैयार नहीं दिखे।
लोगों में चर्चा का विषय यह भी था कि जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव पितृ शोक के बाद भी लोगों की जान बचाने के लिए घर से बाहर निकलकर गांव गांव पहुंच रहे हैं और लोगों को जागरूक करके व उनका टेस्ट करा कर उपचार कराने का काम कर रहे हैं। जिलाधिकारी की इस सराहनीय पहल के बाद गांव में कोरोना से संबंधित भय भी कम होने लगा है और लोग कोरोना महामारी को लेकर जागरूक हो रहे है।
वही जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि कठवारा ग्राम पंचायत में सर्वे चल रहा है। यहां पर कुछ समस्या आ रही थी उसको देखने आए हैं और लोगों को प्रेरित कर रहे हैं। घर-घर सैंपलिंग की जा रही है और जो अभियान चल रहा है इसमें लोग सपोर्ट करें। जो लोग दिखे उससे बात भी की गई है और लोग सहयोग मांगा जा रहा है। सभी की सैंपलिंग कराई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.