विशेष संचारी रोग नियन्त्रण माह पहली जुलाई से 16 से 31 जुलाई तक दस्तक अभियान को लेकर डीएम की अध्यक्षता में बैठक

0
79

रायबरेली। (उमेश यादव) जनपद में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एक से 31 जुलाई तक चलाया जायेगा | इसके साथ ही 16 से 31 जुलाई तक दस्तक अभियान भी चलाया जाएगा | अभियान की तैयारियों को लेकर बुधवार को बचत भवन सभागार में जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिला टास्क फोर्स की बैठक हुई | जिलाधिकारी ने कहा कि जुलाई माह से शुरू होने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान और दस्तक अभियान को लेकर लापरवाही न बरतें | सभी विभाग समन्वित रूप से विस्तृत कार्ययोजना बनाकर गतिविधियां आयोजित करें | अभियान से पूर्व स्वास्थ्य कर्मियों का प्रशिक्षण पूरा कर लें | साथ ही लॉजिस्टिक आदि की आपूर्ति सुनिश्चित करें | इसके अलावा पिछले साल जो क्षेत्र मच्छर जनित रोगों के मामले में उच्च जोखिम में थे उनका प्राथमिकता के आधार मलेरिया विभाग के सहयोग से पुनः आकलन किया जाए कि वहाँ वर्तमान में क्या स्थिति है |
जनपद के जिन क्षेत्रों में मच्छर का सामान्य से अधिक प्रजनन पाया जाये, ऐसे क्षेत्रों की सूची अंतर्विभागीय सहयोग से मच्छर नियंत्रण गतिविधियां संपादित करने के लिए नगर विकास, ग्रामीण विकास, पंचायती राज आदि संबंधित विभागों को उपलब्ध कराई जाये |
जिलाधिकारी ने सहयोगी विभाग के अधिकारियों से कहा कि वह स्वयं अपनी देख रेख में माइक्रोप्लान तैयार कर नोडल( स्वास्थ्य) विभाग को समय से उपलब्ध कराते हुए अपने विभाग के कार्यों को संपादित कराएंगे |
अभियान के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ता लोगों को मच्छरजनित परिस्थितियाँ उत्पन्न न होने देने के बारे में जागरूक करें | हमें संचारी रोग जैसे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, दिमागी बुखार जैसी बीमारियों के प्रसार को रोकना है | इसके लिए आवश्यक है कि सही समय पर बुखार की जांच और उसका इलाज हो | इसके लिए आवश्यक है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर पहुँचें |
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग है | इसके अलावा बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, शिक्षा, पंचायती राज, ग्राम्य विकास, दिव्य जन कल्याण, पशु पालन, कृषि, नगर विकास, चिकित्सा शिक्षा एवं सूचना विभाग भी सहयोग करेंगे | सभी विभागों के परस्पर सक्रिय सहयोग से ही अभियान की सफलता निश्चित है |
राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. दिलीप सिंह 16 जुलाई से शुरू होने वाले दस्तक अभियान के तहतआशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर बुखार के रोगियों, इंफ्लुएंजा लाइक इलनेस के रोगियों, क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्तियों एवं कुपोषित बच्चों की सूची बनाएंगी | इसके साथ ही क्षेत्रवार ऐसे मकानों की सूची भी बनायेंगी जहां घरों के भीतर मच्छरों का प्रजनन पाया गया है |
आशा कार्यकर्ता उन घरों के प्रमुख स्थानों पर स्टीकर लगायेंगी जिन घरों में 15 वर्ष से कम आयु के बच्चे हैं या क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्ति हैं | इसके साथ ही संचारी रोगों से बचाव के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा स्कूलों, ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस (वीएचएनडी), मातृ समिति की बैठक में लोगोंको जागरूक किया जाएगा | आशा कार्यकर्ता लोगों को इस बारे में जागरूक करें एवं यह जरूर सुनिश्चित करें कि बुखार होने पर स्वयं से इलाज न करें बल्किनजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर बुखार की जांच कराएं |
इस मौके पर सभी विभागों को निर्देशित किया गया हैकि वह अपने अपने विभाग का माइक्रोप्लान 28 जून तक मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध करा दें।
इस मौके पर जिला मलेरिया अधिकारी डीएस अस्थाना, डीएमसी वंदना त्रिपाठी,एस एम ओ डॉ सी लाल तथा सभी सहयोगी विभागों के प्रतिनिधि तथा सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.