भागवत कथा के श्रवण से होता है पापों का नाश – श्री कृष्णानंद महाराज

0
198

अमित मिश्रा।

नगराम (लखनऊ) । नगराम क्षेत्र के अनैया खरगापुर के निकट मितौली गांव में सोमवार से सात दिवसीय पंचम विशाल श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन किया गया । श्याम नगर सिद्धौर से आए श्री कृष्णानंद जी महाराज ने सोमवार से कथा प्रारंभ किया ।
श्री कृष्णानंद ने कथा के पहले दिन श्रद्धालुओं को कथा सुनाते हुए कहां कि श्रीमद् भागवत कथा के वाचन व श्रवण से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है । संसार दुखों का सागर है , प्रत्येक प्राणी किसी न किसी तरह से दुखी व परेशान है , कोई स्वास्थ्य से दुखी है तो कोई परिवार और कोई धन से तो कोई संतान को लेकर परेशान हैं । सभी परेशानियों से मुक्ति पाने के लिए ईश्वर की आराधना ही एकमात्र मार्ग है , इसलिए मनुष्य को अपने जीवन का कुछ समय हरि भजन में लगाना चाहिए । उन्होंने कहा कि भागवत कथा वह अमृत है जिसके पान से भय , भूख , रोग व संताप सब कुछ स्वत: ही नष्ट हो जाता है । उन्होंने कहा कि व्यक्ति को मन बुद्धि चित्त एकाग्र कर अपने आप को ईश्वर के चरणों में समर्पित करते हुए भागवत कथा को ध्यान पूर्वक सुनना चाहिए , श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करने से जन्म जन्मांतर के पापों का नाश हो जाता है श्रीमद् भागवत कथा के श्रवण से महा पापी धुंधकारी का भी उद्धार हो गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.