इन महारथियों क़ो आरक्षण सूची ने दिया झटका, मैदान से यह चेहरे हुए बाहर

0
1357

रिपोर्ट अमित त्रिपाठी

महराजगंज रायबरेली। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव क़ी आरक्षण सूची ने जहां मौजूदा प्रधानी क़े अधिकतर दावेदारों क़े मंसूबों पर पानी फेर दिया वही 2015 क़े विजयी डीडीसी एवं ब्लाक प्रमुख महराजगंज क़ो भी आरक्षण सूची ने निराश किया। मन मुताबिक आरक्षण सूची ना आने से इस बार क़े जिला पंचायत सदस्यीय एवं ब्लाक प्रमुख क़े चुनाव में इन चेहरो का ना रहना क्षेत्र में राजनैतिक अचंभा माना जा रहा।
बताते चले क़ी 2015 क़े पंचायत चुनाव में महराजगंज प्रथम जिला पंचायत सदस्य सीट से जिला पंचायत अध्यक्ष रही सुमन सिंह क़ो भारी मतों से हरा चर्चा में आए प्रभात साहू क़ी यह सीट अनुसूचित वर्ग क़ो आरक्षित हो गयी। जिससें इस रोमांचक जंग क़े गवाह रहे मतदाताओं सहित समर्थको में भारी मायूसी देखने क़ो मिल रही। वही युवा प्रत्याशियों पर महराजगंज दुतीय से भारी पड़े जिला पंचायत सदस्य रामशंकर चौधरी भी इस बार सीट अनुसूचित होने क़े चलते चुनावी मैदान से लगभग बाहर ही हो गए। इस दौरान पिछले पंचायती चुनाव क़ी सबसे चर्चित सीट रही ब्लाक प्रमुखी भी इस बार अनुसूचित होने से मौजूदा प्रमुख सत्येंद्र प्रताप सिंह क़ो आरक्षण प्रक्रिया ने झटका दिया है। पिछले चुनाव क़े यह बड़े चेहरे इस बार चुनाव से बाहर होने क़े चलते राजनैतिक पंडितो क़े समीकरणों पर भी कुठाराघात होता दिखाई पड़ रहा। आरक्षण सूची आने क़े बाद डीडीसी व भाजपा नेता प्रभात साहू ने बताया क़ी चुनाव आयोग क़ी मंशा का पूर्ण सम्मान है पार्टी जिसे कहेगी उसका पूर्ण समर्थन किया जाएगा। ब्लाक प्रमुख एवं भाजपा बछरावा विधानसभा संयोजक सत्येंद्र प्रताप सिंह ने बताया क़ी भाजपा सरकार सबका साथ- सबका विकास क़ी बात करती है, जिसके तहत सबको मौका मिलना चाहिए। जिम्मेदार पदाधिकारी होने क़े नाते पार्टी क़े पक्ष में अधिक से अधिक बीडीसी जिताने एवं प्रमुखी पद लाने का कार्य किया जाएगा। वही पांच बार डीडीसी एवं एक बार ब्लाक प्रमुख रहे रामशंकर चौधरी ने बताया क़ी आरक्षित सीट होने से जिला पंचायत सदस्य नही किन्तु ब्लाक प्रमुखी सीट क़े लिए समर्थक उम्मीदवार उतार पुख्ता दावेदारी पेश क़ी जाएगी।
फोटो-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.