राजू प्रधान खैरहना ने घर-घर पहुंचाया पानी, साबित हो रहे गांव क़े ‘भागीरथ’

0
500

रिपोर्ट अमित त्रिपाठी

महराजगंज रायबरेली। पानी क़ी किल्लत झेल रहे इस गांव में घर-घर पेयजल सुविधा पहुंचा भागीरथ प्रयास करने वाली महिला प्रधान रुखसाना एवं उनके प्रतिनिधि राजू क़े इस कार्य क़ी सराहना गांव ही नही अपितु दूसरे गांव क़े लोग भी करने से नही थकते।
बताते चले क़ी वर्ष 2008 में पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय भारत सरकार से निर्मल गांव पुरस्कार योजना के तहत राष्ट्रपति पुरस्कार से पुरस्कृत ग्राम खैरहना में विकास क़ी एक नई इबादत लिखी दिखाई पड़ती है। भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत इस गांव क़ी मौजूदा महिला प्रधान रुकसाना एवं प्रधान प्रतिनिधि राजू द्वारा जल निगम से 15 सोलर ड्यूल पंप एवं सोलर आरओ प्लांट से गांव क़ी गलियों में पाइप लाइन बिछा घर घर पेयजल क़ी सुविधा प्रदान क़ी गयी। 2005 से लगातार तीन बार जीत क़ी हैट्रिक लगाने वाले प्रधान प्रतिनिधि राजू बताते है क़ी गांव में पानी क़ी बहुत समस्या थी जो पानी क़ी उपलब्धता भी थी उसमे फ्लोराइड क़ी मात्रा अधिक रहती थी, गांव क़े लोगो को इस समस्या से निजात दिलाने क़े लिए पूरे सिंघाराय, झखरी, पूरे तालेबंद में दो, पूरे ठकुराइन, पूरे बंजारन में एक,इमामगंज में तीन एवं खैरहना गांव में चार सोलर पंप लगवाए गए एवं ग्राम सभा में पाइपों का जाल बिछवा 3 हजार आबादी को निःशुल्क पानी क़ी आपूर्ति कराई जा रही। वही प्रधान रुखसाना बताती है सोलर पंप लगवाने का मकसद सभी को साफ पानी देने क़े साथ साथ बिजली क़ी बचत करने का प्रयास भी रहा। मालूम हो क़ी प्रधान प्रतिनिधि राजू द्वारा कोरोना महामारी में लगे लाकडाउन क़े समय 70 खानाबदोश बंजारे परिवारो क़े करीब 400 लोगो क़े राशन, सब्जी, दवाई आदि क़ी जिम्मेदारी उठा आस पड़ोस क़ी ग्राम सभाओ को भी जरूरतमंदो क़ी सहायता क़े लिए प्रेरित किया। गांव क़े सुंदर यादव, अख्तर खाँ, शहजादे खां, सुखीराम, रामसेवक यादव, पवन यादव, रामसमुझ वर्मा, रामकरन, अजमेरी, हीरालाल सहित अन्य लोगो ने बताया क़ी प्रधान द्वारा स्वच्छ पानी देने एवं लाकड़ाउन में गरीबो क़ी मदद करने से गांव में खुशहाली और तरक्की साथ साथ देखने को मिल रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.