तो आखिरकार ऊंचाहार विधानसभा में टिकी लोगों की निगाहें ?

0
294

सपा से मनोज कुमार पांडेय या फिर स्वामी के बेटे उत्कर्ष मौर्य

रायबरेली: आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर दलबदल का खेल खत्म होता नजर नहीं आ रहा है जहां एक तरफ बीजेपी से लोग निकल कर सपा की झोली में समा रहे हैं तो वहीं सपा से निकलकर बीजेपी की दामन में लोग आ रहे हैं। इन दलबदलू नेताओं का असर कितना भारी पड़ेगा यह तो चुनाव के बाद ही पता चल पाएगा लेकिन रायबरेली जनपद के ऊंचाहार विधानसभा चुनाव को लेकर जिले के लोग टकटकी लगाकर कर बैठे हैं। दरअसल में अब तक समाजवादी पार्टी से ऊंचाहार विधानसभा क्षेत्र में दो पंचवर्षीय से विधायक रहे मनोज कुमार पांडे यही नहीं वह सपा से कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं लेकिन हाल में ही भाजपा की दामन छोड़कर सपा की झोली में गए स्वामी प्रसाद मौर्या के जाने के बाद थोड़ा अटकले अलग हो चुकी थी ।

लेकिन इसी दौरान सपा विधायक मनोज कुमार पांडे राजधानी पहुंचकर लोगों की अटकलों पर विराम लगा दिया। लेकिन एक बार फिर अटकलें तेज हो गई हैं कि समाजवादी पार्टी स्वामी प्रसाद के बेटे उत्कर्ष मौर्य को सपा से टिकट देने की ठान ली है। हालांकि इसकी पुष्टि अमेठी लाइव न्यूज पोर्टल नहीं करता है लेकिन चर्चाओं के मुताबिक समाजवादी पार्टी स्वामी प्रसाद के बेटे उत्कर्ष मौर्य को ही ऊंचाहार विधानसभा से विधायकी पद के लिए टिकट देगी। अब सवाल उठता है कि अगर सपा उत्कर्ष मौर्य को ऊंचाहार से टिकट देती है तो फिर इतने सालों से सपा में झक मारने वाले मनोज कुमार पांडे आखिर कौन से विधानसभा से चुनावी ताल ठोकेंगे। वैसे आपको ये भी बता दे मनोज पांडेय सपा के पुराने नेता के साथ साथ एक ब्राह्मण चेहरा भी है सपा के लिए इतना आसान नही होगा टिकट काटना। 

अगर चर्चाओं के मुताबिक यह भी माना जाए कि मनोज कुमार पांडे दो पंचवर्षीय विधायक रहने के बाद उनकी छवि ऊंचाहार में बहुत बरकरार है और वह निर्दलीय विधायकी लड़ेंगे तो क्या जनता उन्हें समर्थन करेगी क्योंकि पिछले कई सालों से भाजपा नेता अतुल सिंह भी जनहित में अपनी एक अलग पैठ बना चुके हैं अगर भाजपा इन्हें टिकट देती है तो उत्कर्ष मौर्य और अतुल सिंह के बीच कांटे की लड़ाई मानी जा रही। हालांकि अभी समाजवादी पार्टी प्रदेश स्तर से जिले के किसी भी विधानसभा क्षेत्र में अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित नहीं किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.