रायबरेली: अवैध बिल्डिंगों पर आरडीए के अधिकारियों की छत्रछाया

0
233

रायबरेली। जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश में अवैध अतिक्रमण पर बाबा का बुलडोजर चल रहा है वही रायबरेली में अधिकारियों की शह पर अवैध बिल्डिंगे लगातार बनती जा रही हैं । मानक विहीन बन रही बिल्डिंगों का न तो नक्शा है और ना ही पार्किंग की कोई समुचित व्यवस्था । सैकड़ों बिल्डिंगे ऐसी है जो अभी भी निर्माणाधीन है जिस पर सेटिंग गेटिंग के चलते आरडीए के जेई व अधिकारियों की मौन स्वीकृति बनी रहती है।

शहर में हजारों बिल्डिंगे ऐसी है जिनका रायबरेली विकास प्राधिकरण से या तो नक्शा नहीं पास है ।अगर कुछ बिल्डिंग का नक्शा पास भी है तो वह भी आवासीय में लेकिन वर्तमान समय में सैकड़ों बिल्डिंगे ऐसी हैं जो निर्माणाधीन है। जिस पर काम चल रहा है। वह पूरी तरह मानक विहीन है । शहर के जहानाबाद चौकी, कहारों का अड्डा ,मनिका सिनेमा के पास सहित अन्य जगहों पर लगातार बिल्डरों द्वारा कई मंजिला बिल्डिंग का निर्माण कराया जा रहा है लेकिन उन बिल्डिंगो का नक्शा पास नहीं है। अगर नक्शा पास भी है तो आवासीय में जो बिल्डिंग बन रही है वह पूरी तरह मानक विहीन है ना तो पार्किंग की व्यवस्था है और ना ही आग लगने पर अग्निशमन की गाड़ियों के जाने व खड़े होने की । इतना ही नहीं अन्य मानको पर भी यह बिल्डिंग खरी नहीं उतर रही है। अगर कहीं से कोई बड़ी शिकायत करता है तो रायबरेली विकास प्राधिकरण के अधिकारी मौके पर पहुंचकर नोटिस देकर मामले की इतिश्री कर देते हैं । नोटिस रिसीव करने के बावजूद भी बिल्डर अपने बिल्डिंग में काम करवाते रहते हैं। जिसमें रायबरेली विकास प्राधिकरण के अधिकारियों की पूरी मौन स्वीकृति होती है।

प्रदेश के अन्य जनपदों में प्रशासन का पीला पंजा अवैध अतिक्रमण पर लगातार चल रहा है लेकिन वही रायबरेली की बात की जाए तो एक भी अवैध बिल्डिंग पर बाबा का बुलडोजर नहीं चला है। कहीं बुलडोजर चला भी है तो वह अपराधियों के अवैध कब्जों पर लेकिन क्या मानक विहीन बिल्डिंग बनाने वाले बिल्डरों को अपराधियों की श्रेणी में नहीं रखा जाना चाहिए ?क्या वह अपराध की श्रेणी में नहीं आता हैं ?मानक विहीन बिल्डिंगों को बनाकर अकूत संपत्ति अर्जित करने वाले बिल्डरों को क्या उस श्रेणी से बाहर रखा जाना चाहिए ?जी हां रायबरेली में रायबरेली का प्रशासन द्वारा विकास प्राधिकरण इन बिल्डरों को पाक साफ मानता है। तभी तो इन बिल्डरों पर उनकी कृपा दृष्टि बनी रहती है जबकि बता दूं कि इन्हीं अवैध बिल्डिंग की वजह से शहर में जबरदस्त जाम वा घटनाएं देखने को मिलती है ।अब देखना यह है कि इन अवैध बिल्डरों पर कार्रवाई होती है या फिर जनपद के प्रशासनिक अधिकारी बाबा के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए इन्हें पहले की तरह अभी भी सह देते हैं ।

पल्लवी मिश्रा सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि अवैध बिल्डिंगों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है । जैसे जैसे सूचनाएं मिल रही है उनको नोटिस दी जा रही है । अन्य पर भी जांच करा कर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.