रायबरेली: अदिति सिंह के राजनीतिक गुरु है योगी आदित्यनाथ ?

0
1186

मनीष अवस्थी

रायबरेली— सिविल लाइंस के दुकानदारों के समर्थन में उतरी कांग्रेस विधायिका अदिति सिंह के उस वक्तव्य से राजनेतिक गलियारों में गर्माहट तेज हो गई जब उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपना राजनीतिक गुरु कह डाला। इतना ही नही अदिति सिंह ने डंके की चोट पर कहा कि प्रशासन दुकानदारों से उनकी जमीन खाली नही करा सकता क्योंकि उनकी सीधे मुख्यमंत्री योगी जी से बात हो गई है।
बता दे कि सिविल लाइन के दुकानदार पचासों साल से विवादित जमीन पर काबिज है और व्यापार कर रहे हैं। मामला कमला नेहरू एजुकेशनल ट्रस्ट से जुड़ा हुआ है। वह जमीन जिसपर दुकानदार काबिज हैं कमला नेहरू एजुकेशनल ट्रस्ट के नाम अभिलेखों में अंकित थी जिसके बाद उस जमीन को ट्रस्ट ने जिले के एक भाजपा नेता को बेच दिया। जिसके बाद जिला प्रशासन ने दुकानदारों को नोटिस दिया और जमीन खाली करने के निर्देश दिए। लेकिन बरसों से काबिज दुकानदारों को यह रास नही आया और उन लोगों ने सदर कांग्रेस विधायिका अदिति सिंह से मदद मांगी। जिसके बाद अदिति सिंह ने सैकड़ो समर्थको के साथ सिविल लाइंस पहुंच गई।
सिविल लाइन पहुंचकर सदर विधायिका अदिति सिंह ने दुकानदारों को आश्वासन देते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी मेरे राजनैतिक गुरु है उनसे मेरी बात हो गयी है उन्होंने जांच के बाद न्याय का आश्वासन दिया है। जो भी हुआ वो योगी जी की देन है।
फिर क्या था योगी बाबा जिंदाबाद अदिति सिंह जिंदाबाद के नारे लगने शुरू हो गए।
सिविल लाइंस जैसे ही अदिति सिंह पहुंची साथ ही सैकड़ो समर्थक भी वहां पहुंच गए। आदित्यनाथ को अपना रवही अदिति सिंह ने कहा कि दुकानदार भाई पचासों सालो से इस पर काबिज है। अगर फैसला इनके विरुद्ध भी आया तो प्रशासन को हाई कोर्ट , सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट में रिव्यु फ़ाइल करने के लिए समय तो देना चाहिए था। सिटी मजिस्ट्रेट युगराज सिंह ने लॉक डाउन में इन लोगो को नोटिस दी और फिर कार्यवाही करने लगे।योगी आदित्यनाथ जी मेरे राजनैतिक गुरु है। उनसे मेरी बात हो गयी है । उनके संज्ञान में पूरा मामला है उन्होंने आश्वासन दिया है कि जांच करवाकर न्याय किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.