प्रेरक जनपद बनाने की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है प्रधानाध्यापक आनंद प्रकाश शर्मा

0
441

रायबरेली बछरावां के प्राथमिक विद्यालय सब्जी में प्रधानाध्यापकों की पहली मासिक बैठक का आयोजन किया गया जहां पर विद्यालय के शिक्षकों द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से किए जाने वाले शिक्षण कार्य एवम् वहां के शिक्षकों का प्रेरणा लक्ष्य हासिल करने हेतु एक बेहतरीन प्रयास सभी को देखने को मिला जहाँ शिक्षको द्वारा गृह कार्य के अंतर्गत योजनाबद्ध तरीके से प्रेरणा लक्ष्य के आधार पर गणित के प्रश्नों का निर्माण कर बच्चो को दिया जा रहा है। कक्षावार विषयवार प्रश्न बनाकर देने का यह कार्य वास्तव में प्रशंसनीय है और ऐसे ही प्रयासों से उत्तर प्रदेश प्रेरक प्रदेश बनेगा। विद्यालय की सहायक अध्यापिका सपना बाजपेई व उनकी पूरी टीम की प्रशंशा करते हुए विकास क्षेत्र के समस्त परिषदीय विद्यालयों को भी अपने अपने विद्यालयों को प्राथमिक विद्यालय सब्जी जैसा बनाने का सभी को संकल्प जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी आनंद प्रकाश शर्मा द्वारा दिलाया गया।
*मिशन प्रेरणा की समस्त गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए श्री शर्मा ने उपस्थित प्रधानाधयापकों से अपील की कि वह बच्चों को गुणवत्तपूर्ण शिक्षा देने के साथ ही भैतिक उन्नयन की दिशा में समय बद्घ कार्य करें तथा सभी आवश्यक १४ बिंदुओं की मूलभूत आवश्यकताओं को दो सप्ताह के भीतर अनिवार्य रूप से पूर्ण कर लें।विद्यालय में आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत कराए जा रहें कार्यों की समीक्षा करते हुए प्राथमिक विद्यालय सेहगों पूरब गावं, खांडेखेडा, पहुरावां,रघुनाथ खेड़ा,पीठन तिलेंडा रघुनाथ खेड़ा प्रथम नीमटीकर,सरौरा बिसुनपुर आदि २० विद्यालयों के *प्रधानाध्यापकों की सूची बनाते हुए दिनांक ०४जनवरी के पश्चात इन सभी विद्यालयों का औचक निरीक्षण मेरे द्वारा किया जाएगा।तथा अच्छे कार्य हेतु आप सभी को प्रोत्साहित किया जाएगा।* शैक्षिक *गतिविधियों पर समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि सभी प्रधानाध्यापक/शिक्षक मार्च २०२२ तक प्रेरक प्रदेश बनाने की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है अतः आप सभी तीनों माड्यूल आधारशिला,ध्यानाकर्षण, शिक्षण संगृह की प्रत्येक लाइन को ध्यान से पढ़ें और उसे अपने व्यवहार में लाए,प्रेरणा लक्ष्य,सूची व तालिका की हर लाइन याद रखें, सैट परीक्षाफल वितरण अवश्य पूर्ण करे,विद्यालय का संचालन रखरखाव टाइम एंड मोसन शासनादेश के अनुरूप करें।वर्तमान में जब तक बच्चें स्कूल नहीं आ रहें तब तक शिक्षण योजना अवश्य तैयार कर लें।ई पाठशाला२के अन्तर्गत अधिकतम बच्चों को व्हाट्सअप समूहों में जोड़कर उन्हें प्रतिदिन खुद के द्वारा बनाया गया शिक्षण सामग्री व राज्य परियोजना द्वारा प्रेषित शिक्षण सामग्री अवश्य भेजें।उन्होंने यह भी कहा कि बच्चों को टीवी रेडियो व यूट्यूब चैनल के माध्यम से पढ़ाई करने के लिए प्रेरित करें एवम् प्रधानाध्यापकों को नवाचारों आईसीटी के प्रयोग लरनिंग असेसमेंट,स्कूल लीडरशिप दीक्षा पोर्टल,रीड अलांग एप, आन लाइन ट्रेनिंग जैसी सभी गतिविधियों की जानकारी दी।उपरोक्त बैठक के पश्चात सभी शिक्षकों ने अपने अपने विद्यालयों को भी प्राथमिक विद्यालय सब्जी जैसा बनाने का संकल्प लिया।*
*बैठक में खंड शिक्षा अधिकारी पदम शेखर मौर्य, प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष आशुतोष शुक्ल,ओम प्रकाश राजेन्द्र प्रसाद शर्मा लोकतंत्र शुक्ल,अमित कुमार शिक्षा शुक्ल ,शांत कुमार सिंह,रमेश कुमार वर्मा शैलेन्द्र कुमार मनीष कुमार श्रीवास्तव शाशिलेश कुमार राम प्रकाश राम रत्न राहुल वर्मा अजय पाल यादव सुशीला यादव संगीता यादव आरती कल्पना वर्मा सुनीता वर्मा ज्योति सिंह उषा देवी गायत्री दीक्षित विभा देवी प्रशांत मोहन सरोज कुमारी मोहम्मद आरफीन आजम चौधरी चरण सिंह आशीष गौतम अरुण कुमार दीपक पाण्डेय दिनेश कुमार समेत सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यपक उपस्थित रहें।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.