प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व “अभियान” गर्भवती महिलाओं की हुई जाँचें

0
136

रायबरेली। (उमेश यादव) जिला महिला अस्पताल सहित सभी 18 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों(सीएचसी) और 3 नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) पर प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान का आयोजन किया गया | इस क्रम मेंअपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अरविंद, जिला मातृ स्वास्थ्य परामर्शदाता यासीन एवं जिला फैमिली प्लानिंग एंड लॉजिस्टिक्स मैनेजर हिमांशु द्वारा जिला महिला चिकित्सालय का भ्रमण कर अभियान का निरीक्षण किया | जिले में 1054 गर्भवती की नि:शुल्क जाँच हुई |
इस मौके पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ वीरेन्द्र सिंह ने कहा – इस दिवस का आयोजन हर माह की नौ तारीख को किया जाता है | इसके आयोजन का मुख्य उद्देश्य गर्भवती को प्रसव पूर्व कम से कम एक बार एमबीबीएस चिकित्सक की देख रेख में निःशुल्क जांच एवं उपचार उपलब्ध कराना है ताकि उच्च जोखिम की गर्भावस्था (एचआरपी) की पहचान कर उसे समय से इलाज उपलब्ध कराया जा सके | इस दौरान गर्भवती की हीमोग्लोबिन की जाँच, पेशाब की जांच, सिफलिस की जाँच, एचआईवी की जाँच और अल्ट्रा साउंड निःशुल्क किया जाता है |
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा- प्रशिक्षित महिला चिकित्सक द्वारा गर्भवती की जाँच कराने का उद्देश्य होता है कि महिला के स्वास्थ्य की जाँच के साथ गर्भ में पल रहे बच्चे की सही स्थिति का ज्ञान हो सके ताकि समय रहते गर्भवती को इलाज मुहैया कराया जा सके ताकि जच्चा और बच्चा दोनों ही स्वस्थ रहें | कोरोना संक्रमण के इस दौर में गर्भवती को विशेष ध्यान देने की जरूरत है | उन्हें कोरोना से बचाव के सभी प्रोटोकॉल जैसे मास्क लगाना , बार बार हाथ धोना और दो गज की शारीरिक दूरी का पालन करना चाहिए | साथ ही वह बेवजह बाहर न निकलें | गर्भवती अपना कोविड टीकाकरण अवश्य कराएं | गर्भवती के लिए कोविड का टीका पूरी तरह सुरक्षित है |
भ्रमण के दौरान जिला महिला चिकित्सालय में 116 महिलाओं की जांच की गई एवं 11 एच.आर.पी चिन्हित की गई जिनको विशेषज्ञ चिकित्सक द्वारा स्वास्थ्य संबंधी पोषण एवं देखभाल हेतु परामर्श दिया गया तथा “सुरक्षित मातृत्व की ओर” अभियान के अंतर्गत गर्भवती महिला एवं धात्री महिलाओं को फ़ोलिक एसिड,आयरन फोलिक एसिड,कैल्शियम एवं अल्बेंडाजोल की टेबलेट वितरित की गई तथा समस्त आवश्यक जांच की गई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.