स्वास्थ्य केंद्रों पर आज आयोजित हुआ प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस

0
77

रायबरेली। (उमेश यादव) जिला अस्पताल सहित सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर बृहस्पतिवार (नौ जून) को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस(पीएमएसएमए) मनाया गया| यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. वीरेन्द्र सिंह ने दी | उन्होंने बताया – इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाना है| मातृ और शिशु मृत्यु दर का एक मुख्य कारण उच्च जोखिम गर्भावस्था(एचआरपी) का सही प्रबंधन न होना है | इसलिए अगर सही समय से ऐसी गर्भावस्था की पहचान कर ली जाए तो मां और बच्चे की जान को बचाया जा सकता है |
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया- इस दौरान कुल 1102 गर्भवती की जांच की गई जिसमें से 20 गर्भवती एचआरपी चिन्हित हुईं |
प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य के नोडल अधिकारी डा.ऐ के चौधरी ने बताया- प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस पर दूसरी और तीसरी तिमाही की गर्भवती की प्रशिक्षित चिकित्सक द्वारा जांच कर उच्च जोखिम की गर्भावस्था चिन्हित की जाती हैं और आवश्यकता पड़ने पर उन्हें उच्च स्वास्थ्य केंद्रों पर संदर्भित भी किया जाता है|
इस दौरान गर्भवती का पंजीकरण, हीमोग्लोबिन की जांच, पेशाब की जाँच, सिफलिस और एचआईवी की जाँच की जाती है | इसके अलावा अल्ट्रा साउंड निःशुल्क किया जाता है | इसके साथ ही परिवार नियोजन के सम्बन्ध में परामर्श दिया जाता है | पहली बार प्रसवपूर्व जाँच कराने आयी गर्भवती का आरसीएच पोर्टल पर उसी दिन पंजीकरण किया जाता है | उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली महिलाओं को चिन्हित कर मातृ शिशु सुरक्षा (एमसीपी) कार्ड पर एचआरपी की मुहर लगा दी जाती है एवं एचआरपी महिलाओं के प्रसव की कार्ययोजना सहित रिकॉर्ड स्वास्थ्य इकाइयों पर सुरक्षित रखे जाते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.