प्रयागराज: इस मंदिर में लगती है भगवान शिव की अदालत

0
89

प्रयागराज: सावन में देश में शिव भक्तों का धूम रहती है इस महीने में शंकर भगवान के हर मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ जुटती है। प्रयागराज के शिवकुटी इलाके में भगवान शिव का अनोखा मंदिर है जहां पर एक नहीं दो नहीं बल्कि 288 भगवान शिवलिंग स्थापित है। जिसे शिव कचहरी के नाम से भी जाना जाता है। यहां आने वाले शिव भक्त अपनी गलतियों को भगवान शिव के कान में कहने के बाद उठक-बैठक कर माफी मांगते हैं। शिव कचहरी के नाम से जाने जाने वाला यह मंदिर भगवान शिव की अदालत के रूप में प्रसिद्ध है।

प्रयागराज के शिवकुटी इलाके में स्थित इस मंदिर में प्रवेश करने पर सरकारी बिल्डिंग की तरह लाल और सफेद रंग से रंगी दीवारें नजर आएंगी, जिसमें अंदर जाने के लिए सिर्फ एक दरवाजा है।  एक झलक में आपको एक अदालत जैसी नजर आती है। यह अदालत कोई सरकारी अदालत नहीं बल्कि शिव की अदालत है। इसे प्रयागराज शिव कचहरी मंदिर कहा जाता है.

इस अनोखे मंदिर में कुल 288 शिवलिंग स्थापित है। इस मंदिर में भगवान शंकर ही जज और वकील हैं। इस मंदिर में आने वाले उनके भक्त फरियादी होते हैं और भगवान शिव के कानों में कहकर अपनी गलतियों की माफी मांग कर मंदिर में उठक-बैठक लगाते हैं।

शिव कचहरी में आकर भक्त शिव की पूजा-अर्चना करते हैं और फिर आखिरी में क्षमा याचना के लिए न्याय स्वरूप शिव के सामने कान पकड़ कर उठक-बैठक लगाते हैं. शिव कचहरी के एक कोने से लेकर दूसरे कोने तक जहां भी आपकी नजर जाएगी, आपको शिवलिंग नजर आएंगे. सावन के महीने में शिव भक्तों की भीड़ सबसे अधिक लगती है। इस मंदिर की स्थापना राणा जनरल जंग पदम बहादुर 1865 में स्थापित किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.