गांव के अंदर भरे लबालब पानी से लोगो का बाहर निकलना हुआ मुहाल,पानी भरने से भरभराकर गिरा मकान..

0
402

मनीष अवस्थी


रायबरेली। जहां इस समय जिले में तपन से लोग बेहाल है क्योकि बारिश नहीं हो रही है जिससे किसानों के लिए एक आफत खड़ी होती जा रही है वहीं अगर हम बात करें सरेनी थाना क्षेत्र की जहां पर 2 से 3 दिन की बारिश में ही पूरा गांव जलमग्न हो गया गांव के हर गली पानी से सराबोर हो चुका है गांव के लोगों को बाहर निकलने में दिक्कतें आ रही हैं लोग अपने घरों पर ही दुबकने के लिए मजबूर हो रहे हैं वही जो कच्चे घरों पर रह कर अपना जीवन यापन कर रहे थे तो अब गरीब लोगों के लिए बारिश जी का जंजाल बन गई है 3 दिन की बारिश में ही कच्चे मकान धराशाही हो गए लेकिन ईश्वर की कृपा थी कि कोई हताहत नहीं हुई।जरा गौर से देखिए यह नजारा यह कोई नदी तालाब नहीं बल्कि गांव है जो पानी से सराबोर हो चुका है इस गांव में रह रहे लोग त्राहि त्राहि कर रहे है।जी ह हम बात कर रहे हैं रायबरेली जिले के सरेनी थाना क्षेत्र के रालपुर के मीही गांव की है जहां इस गांव में 3 दिन की बारिश में ही गांव तालाब बन चुके हैं गांव के चारों तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है जानवर पानी में रहने के लिए मजबूर हो रहे हैं। कच्चे मकान पूरी तरीके से धराशाई हो गए लोग ऊंची पर रहकर जीवन यापन करने के लिए मजबूर हो रहे हैं लेकिन किसी भी जिम्मेदार अधिकारी की नजर इस गांव की तरफ नहीं पड़ रही है।
वही ग्रामीणों की माने तो 3 दिन की बारिश में ही पूरा गांव तबाही के कगार पर आ गया है घर में रखा खाने के लिए अनाज भी बह गया है जिस तरह से पूरे गांव में पानी ही पानी नजर आ रहा है ऐसा लगता है पूरा गांव नदी बन चुका है लोगों ने जब इसकी सूचना ग्राम प्रधान को दी लेकिन फिर भी यहां तक कोई भी प्रशासन का अधिकारी देखने तक नहीं आया हम लोगों के लिए इस समय अपने ही घर कैद खाना बन चुके हैं इसलिए हम प्रशासन से अनुरोध करते हैं कि जल्द से जल्द इस गांव के जलभराव से मुक्ति दिलाये जिससे हम लोग सुकून से रह सके।

वही मुन्नी शर्मा कि माने तो 3 दिन के ही बारिश में हम लोगों के घरों में पानी भर गया है हम लोग 3 दिन से न सो नहीं पा रहे हैं ना खाना बना पा रहे हैं इसकी सूचना प्रधान को दी गई थी प्रधान तो आए पर लीपापोती करते हुए चले गए नाही अभी तक हम लोगों को इस पानी से निजात मिली है क्योंकि पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है अगर जल्द ही पानी की व्यवस्था की निकासी नहीं हो पाई तो हम लोगों के जीवन पर संकट मंडराना शुरू हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.