एक बार फिर थर्राया मोहनलालगंज आतिशबाजी से हुआ विस्फोट, 10 घायल

0
437

मोहनलालगंज बस स्टाफ के पीछे बने एक मकान में बुद्ववार की दोपहर एक घर में चोरी छुपे बारातो में दगाने वाली आतिशबाजी बनाते समय हुये विस्फोट के बाद लगी आग से घर में रखा सिलेंडर तेज धमाके के साथ फटने से घर के परखच्चे उङ गये।धमाके की आवाज सुनकर भारी भीङ मौके पर जमा हो गयी‌।घटना के चंद मिनटो के अन्दर कोतवाली प्रभारी ने पुलिसकर्मियो के साथ मौके पर पहुँचकर विस्फोट वाले घर में फसे बुरी तरह झुलसे पति-पत्नी सहित बगल के क्षतिग्रस्त हुये मकान के मलबे में फसी महिला सहित तीन को जान जोखिम में डालकर ग्रामीणो की मदद से बाहर निकालकर घायलो को एम्बुलेंस की मदद से सीएचसी भेजने के साथ ही आस-पास के घरो में लगे समरसेबुल पम्प चलवाकर घर में लगी आग बुझायी‌।

विस्फोट की सूचना के बाद एसडीएम,सीओ सहित अन्य अधिकारियो ने घटना स्थल पर पहुँचने के साथ ही सीएचसी  पहुँचकर घायलो का हाल जाना।वही डाक्टरो ने बुरी तरह झुलसे पति-पत्नी को सिविल अस्पताल रिफर करने के साथ अन्य सभी घायलो को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी।जानकारी के अनुसार मोहनलालगंज कस्बे में बस स्टाप के पीछे स्थित एक कालोनी में कल्लू का मकान है जिसमें वो पत्नी हसीना व बेटे शकील,बहू मारूफा के साथ रहता है।

बुद्ववार की सुबह कल्लू अपनी दुकान चला गया ओर पत्नी हसीना बीमार बेटी को देखने लखनऊ के एक निजी अस्पताल चला गया‌‌।इस दौरान बेटा व बहू दोनो घर पर अकेले थे।पङोसियों ने बताया कल्लू का बेटा शकील व बहू मारूफा चोरी छुपे बारातो में दगाई जाने वाली आतिशबाजी बनाने का काम घर के अन्दर करते है बुद्ववार की दोपहर 12बजे के करीब आतिशबाजी बनाते समय अचानक हुये विस्फोट के बाद घर में रखे सिलेंडर में आग लग गयी ओर सिलेंडर तेज धमाके के साथ फट गया जिससे कल्लू के मकान के परखच्चे उङ गये ओर पङोसी सुल्तान का मकान क्षतिग्रस्त हो गया। धमाका इतनी तेज था की उसकी धमक डेढ किलोमीटर दूर तक सुनायी दी।

जिसके बाद तहसील,बसस्टाप सहित कस्बे में मौजूद लोग,वकील दुकानदार सहित तहसील में मौजूद अधिकारी व कर्मचारी सब घटना स्थल की ओर दौङ पङे ओर मौके पर भारी भीङ जमा हो गयी।घटना स्थल पर पुलिस फोर्स के साथ पहुँचे कोतवाली प्रभारी जीडी शुक्ला ने साहस दिखाते हुये सब इस्पेक्टंर हनुमान दत्त शुक्ला सहित पुलिस कार्मियो के साथ जान जोखिम में डालकर विस्फोट वाले मकान में घुसकर उसमें फंसे शकील व उसकी पत्नी मारूफा सहित बगल के मकान की दीवार गिरने से उसमें फसी मेहरजहाँ व उसके मासूम बेटे हम्मार व घायल भाँजे अरमान को बाहर निकालकर एम्बुलेंस सहित पुलिस जीप से इलाज के लिये सीएचसी भेजने  के साथ ही आस-पास के घरो में लगे समरसेबुल पम्प चलवाकर मकान‌ में लगी आग पर काबू पाया।वही धमाके के चलते आस-पास मौजूद आधा दर्जन मकानो की दीवारो में भी दरारे आ गयी ओर मकानो में रहने वाले‌ लोग सहम गये।सूचना के बाद मौके पर फायर बिग्रेड भी पहुँची लेकिन पुलिस ने उससे पहले ही आग पर काबू पा लिया था।वही मौके पर एसडीएम सूर्य पहुँचकत त्रिपाठी,सीओ आर के शुक्ला,तहसीलदार उमेश सिहं सहित अन्य अधिकारियों ने घटना स्थल पर पहुँचकर छानबीन करने के साथ अस्पताल पहुँचकर घायलो का हाल-चाल जाना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.