मेनिका को मिला पवन पाण्डेय का भारी समर्थन, जिले में गर्म हुयी राजनीति की चर्चाये

0
1109

सुल्तानपुर ब्यूरो सुनील राठौर की रिपोर्ट

जिले में चल रही राजनीतिक हलचलों में तब भूचाल आ गया जब अम्बेडकर नगर के पूर्व विधायक शेरे यूपी पवन पाण्डेय ने अपने भारी भरकम दल बल के साथ भाजपा के प्रत्याशी मेनिका गांधी को अपना समर्थन देने का ऐलान कर दिया। पवन पाण्डेय के इस समर्थन से हजारो की संख्या में मौजूद समर्थको ने बड़े ही गर्म जोशी से इस सर्मथन का तालियों की गड़गड़ाहट व जय श्रीराम के बुलन्द नारो से जय जयकार किया। मंच पर आसीन अमेठी के मौनी जी महाराज, अयोध्या जनपद से शिवसेना के कदावर नेता सन्तोष दूबे व हनुमानगढ़ी से अभिषेक दास जी महाराज व प्रतीक पाण्डेय सहित कई वरिष्ठजनो ने इस विशाल सभा को सम्बोधित कर अपना समर्थन उद्गार व्यक्त किया। 


                         जिले के लोहरामऊ माँ के सिद्धपीठ के समीप बाग में रविवार को एक विशाल स्नेह सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमे गैरे जनपदों व सुल्तानपुर के कई दिग्जो नेताओ सहित हजारो ग्रामीणों व महिलाओ ने हिस्सा लेकर कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष सहयोग दिया। वही इस स्नेह सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये अयोध्या जनपद से आये शिवसेना के वरिष्ठ नेता सन्तोष दूबे ने कहा कि इस जिले में दुर्योधन से यहां बड़ी पीड़ा है। जहांतक मेरा मानना है कि मै लगभग 20 वर्षो से सुल्तानपुर से जुड़ा हुआ हूँ। इस जिले के कुछ ऐसे भी लोग है जो मन्दिर बनाने के लिये निकले और मायंग गांव में मगरमच्छ के जलस्य में चले गये। इस लिये अत्याचार को रोकने के लिये हर प्रकार से मै पवन पाण्डेय के साथ खड़ा हूँ। क्योकि पवन पाण्डेय ही एक ऐसा शख्स जो राम मन्दिर को बनाने के लिये बाबरी मस्जिद का विध्वंस किया था। मेरा उदेश्य सिर्फ मन्दिर बनाने के साथ ही धर्म व लोगो की रक्षा करना भी है।

इस दुर्योधन को हराकर ही जिले में रामराज कायम किया जासकता है। इस जिले की जनता को अपनी वोट रूपी ताकत को दिखाने का समय आ गया है। जब यही जिले की जनता भ्रष्ट आतातायी को उसके घर में ही मुहतोड़ जवाब देगी। इसी क्रम में युवा समाज सेवी प्रतीक पाण्डेय ने अपने उद्बोधन में सभी अतिथियों व सम्मेलन में मौजूद लोगो का अभिनन्दन वन्दन कर कहा कि आप स्वयम् जागरूक है। इस लिये अपने मत को विभाजित न करने की सलाह दिया है। इसी के साथ अमेठी से आये मौनी जी महाराज में वैदिक मन्त्रोच्चारण के साथ सम्बोधन करते हुये कहा कि पवन पाण्डेय तो आंधी नही एक तूफान का नाम है। पवन पाण्डेय ने मेरे द्वारा कही गयी बात को कभी टालने का प्रयास तक नही किया है। पवन पाण्डेय का उदेश्य राम मन्दिर बनाना था। किसी सांसद या विधायक बनना नही था। पवन पाण्डेय ने शपथ लिया था कि राम मन्दिर बनेगा। मै कुल अभी तक 03 कड़ोर लोग से दीप जलवाया हूँ। वही महाराष्ट्र में शिवसेना के बाला साहेब ठाकरे द्वारा उत्तर भारतीयो को प्रताड़ित किये जाने के मामले याद दिलाते हुये कहा की उस बाला साहब ठाकरे को उसी मुम्बई में ही उसके आवाज को दबाने का काम पवन ने किया है। तब जाकर यह मुम्बई से नारा मिला शेरे यूपी पवन पाण्डेय जिसका लोग उद्घोष किया करते है। इसके साथ ही मंच से ही समर्थको का हाथ उठवाकर पवन पाण्डेय की आवाज व ताकत बनकर हमेसा मदद दिलाने का आश्वाशन दियाला। इसी दौरान शेरे यूपी पूर्व विधायक पवन पाण्डेय ने कहा कि मै कोई राजा महाराजा के परिवार का नही हूँ। मेरा पूरा परिवार सबसे बड़े आयकरदाता के रूप में माना जाता है। मै किसी नेता का चप्पल उठाकर कोई राजनीति नही किया हूँ। मेरी बात तो आतकंवाद तक गयी है। आज इस सुल्तानपुर में आसुरी ताकते हमारे धर्म पर आक्रमण कर रही है। जिसका जवाब देना अति अवश्यक है। मै जनता हूँ कि अनेकता की एकता में ही हिंदूवादी की ताकत है। देश व प्रदेश की राजनीती में मेरे परिवार की भूमिका क्या होगी यह आज ही तय होगा। वर्ष 1999 में मुझे राजनीति में धोखा दिया गया। उस वक्त मुझपर आरोप लगाकर जेल भेजवाया गया। इसके बाद भी कोई मेरे आवाज की ताकत को दबा नही पाया। मै तो सांसद में पहुचकर अपने गरीब शोषित लोगो के साथ ही अपनी बात को ऊधम सिंह की तरह रखना चाहता हूँ। एक बात स्पष्ट है कि कोई भी प्रत्यासी मुझे खरीद नही सकता और न ही कभी झुका सकता है। जिले में कुछ समन्तियो का एक गिरोह चल रहा है। जो जिले को लूटना चाहते है। इस बार 18 करोड देकर चुनाव लड़ने आया है। जिसने कूरेभार धनपतगंज सहित कई क्षेत्रो में लोगो की हत्याये की और करवायी है। यहाँ तक की पाटनदीन सरोज, तारकेश्वर जैसे दलितों के साथ ही लेखपाल राम कुमार यादव जैसे को भी नही बख्सा है। उसे आज कहना चाहूँगा कि मै उन में से नही हूँ जिसे वह नुकसान पहुँचा लेगा मै तो उसके ही घर में घुसकर जवाब देना जानता हूँ। हमने आज अपना पूर्ण नैतिक समर्थन जनहित एवं राष्ट्रहित मे सुल्तानपुर से भारतीय जनता पार्टी की लोकप्रिय प्रत्यासी मेनिका गांधी को देने का निर्णय लिया हूँ। आज मेरे साथ पूरे क्षेत्रवासियो का विश्वास जुड़ा है। क्षेत्र के दलितों, पिछडो, क्षत्रियो व ब्राम्हणो के ऊपर अत्याचार कर खून की होली खेलने वाले आतातायी प्रवृत्ति के लोगो को नेस्तनाबूद कर जिले में सनातन धर्मावलंबियो को आश्वस्त करता हूँ कि सुल्तानपुर में सामाजिक, समरसता व भाईचारा बनाये रखने के लिये जो भी कीमत चुकानी पड़ेगी मै सर्वस्थ न्यौछावर कर देने की बात कही है। इस दौरान स्नेह मिलन कार्यक्रम में अश्वनी दूबे, विजेंद्र बहादुर सिंह, पप्पू पमोलिया, दिनेश शर्मा, सरयू पाण्डेय, तेज प्रताप दूबे, विनोद तिवारी, त्रिनेत्र पाण्डेय, रूपेश शुक्ल, सुजीत शर्मा, बीएन शुक्ल, अनुराग, देवेन्द्र, अशोक तिवारी, अरविंद कुमार, शोभनाथ, दुर्गा पाण्डेय सहित हजारो की संख्या में जनपड़वासी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.