वैश्विक महामारी के दौर में औषधि वाटिका साबित हो रही रामबाण

0
276

रिपोर्ट ऋषि मिश्रा


(ड्रैगन फ्रूट से लेकर गिलोय, पुनर्नवा, अश्वगंधा सहित अन्य दुर्लभ औषधियां लोगोंं के लिए साबित हो रही संजीवनी)


बछरावां रायबरेली। कस्बा निवासी इलेक्ट्रॉनिक व्यवसायी ने अपने घर की छत पर रूफ गार्डन तैयार किया। कभी यह सिर्फ उनका शौक रहा है। लेकिन वैश्विक महामारी में यह शौक औषधि वाटिका के रूप में लोगों के लिए संजीवनी सिद्ध हो रहा है। चिर परिचित लोगों के साथ ही साथ अजनबी भी उनके पास आयुर्वेदिक औषधियों के लिए पहुंच रहे हैं। कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ने के साथ ही क्षेत्र में सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार से भी लोग परेशान हैं। सीएचसी में ऐसी समस्याओं से जूझने वाले लोगों की भरमार है। वायरल फीवर व कोरोना संक्रमण के लक्षण लगभग एक जैसे प्रतीत होते हैं। ऐसे में लोग दुविधा में हैं। कस्बे के रहने वाले इलेक्ट्रिक व्यवसायी रामू वर्मा छह वर्षों से अपने घर की छत पर रूफ गार्डन तैयार कर रहे है। इस वाटिका में तमाम तरह की दुर्लभ औषधियों को भी जगह दी गई है। गिलोय, पुनर्नवा, अश्वगंधा, ड्रैगन फ्रूट, देसी नीम, गुमची, सतावर, लेमनग्रास, तुलसी, ढांक, वन गोभी व जंगली बैंगन सहित तमाम औषधियां उनके रूफ गार्डन में फल फूल रही हैं। कोरोना के पहले चिर परिचित लोग ही इन औषधियों के लिए उनके पास पहुंचते रहे हैं। वैश्विक महामारी कोरोना के दौर में अब रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए अजनबियों का भी तांता लगा रहता है। यह औषधियां लोगों को सेहतमंद बनाने में अहम रोल निभा रही हैं। इन्हें जड़ी बूटियों के पत्ते, छाल, जड़, तने, फूल का लोग इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में उपयोग कर रहे हैं। कोरोना महामारी के दौर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए अलावा सर्दी, जुकाम, खांसी, शुगर, बदन दर्द व बुखार सहित अन्य बीमारियों के लिए उपयोगी जड़ी बूटियां कई वर्षों से अपने घर की छत पर तैयार कर रहे हैं। इन औषधियों को संरक्षित करने के साथ ही परिचित लोगों को औषधीय पेड़ों को घरों के बगीचे में लगाने की सलाह दे रहे हैं। उन्होंने तमाम लोगों के बगीचों तक इस दुर्लभ जड़ी बूटियों को पहुंचाया। उनके बगीचे के साथ ही अन्य लोगों के घरों में भी यह औषधियां फल-फूल रही हैं।

औषधियों से लोगों को पहुंच रहा लाभ: कस्बे के रहने वाले श्रीश चौधरी , दिवाकर वर्मा, ओमिक चंद्र, सुनील सागर, किशन कुमार सहित तमाम लोगों को सर्दी, जुकाम, बुखार के दौरान इन औषधियों से लाभ पहुंचा है । यह लोग गमलों में घरेलू उपयोग के लिए इन औषधियों को तैयार करने की योजना में संलग्न हैं।

डायबिटीज के लिए रामबाण है ड्रैगन फ्रूट : डॉ० अमित सोनी ने बताया कि ड्रैगन फ्रूट में एंटीट्यूमर, एंटीऑक्सीडेंट व एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए गए हैं। ड्रैगन फ्रूट कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। डायबिटीज रोगियों के लिए ड्रैगन फ्रूट रामबाण दवा है। हृदय संबंधित रोगियों के लिए भी ड्रैगन फ्रूट उपयोगी है। इसके उपयोग से रोग प्रतिरोधक क्षमता में तेजी से विकास होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.