ऑक्सीजन व बेडो की किल्लत के चलते भाजपा पदाधिकारियों ने दिया जिलाधिकारी आवास पर धरना

0
362

मनीष अवस्थी

रायबरेली। जहां एक तरफ प्रदेश सरकार ऑक्सीजन व बेडो की कमी को नकारते हुए बेहतरीन सुविधाओं का दावा कर रही है। वही अधिकारियों के निरंकुश होने व अव्यवस्थाओं को लेकर भाजपा के ही पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी आवास का घेराव किया और नारेबाजी की। जिसके बाद अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन में जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने भाजपा पदाधिकारियों को बुलाकर वार्ता की और समाधान का आश्वासन दिया। वही सीडीओ को हटाने की मांग भी की गई । मीडिया के सवालों से भी सीडीओ भागतेे नजर आया।
खुद को अस्पतालों सहित होम कोरेन्टीन हुए मरीजों को ऑक्सीजन मुहैया नहीं हो पा रही हैं । इतना ही नहीं मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल को कोरोना महामारी का नोडल अधिकारी बनाया गया है। जब सीडीओ के सरकारी नंबर पर फोन किया जाता है तो अधिकतर फोन उठता नहीं और जब उठता है तो मैं क्या करूं का जवाब सुनने को मिलता है। सीडीओ के फोन ना उठाने व व्यवस्थाएं ना करने से आक्रोशित भाजपा के जिला मंत्री विवेक शुक्ला वा जिला मीडिया प्रभारी विजय बाजपेई के साथ दर्जनों भाजपाई जिलाधिकारी आवास पहुंचकर सीडीओ मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए धरना प्रदर्शन किया। जिसकी सूचना जैसे ही जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव को हुई तत्काल भाजपा पदाधिकारियों को अंदर बुलाया साथ ही सीडीओ अभिषेक गोयल व अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम अभिलाख को भी मौके पर तलब किया। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने समुचित व्यवस्था का आश्वासन देकर भाजपा पदाधिकारियों को आश्वस्त किया। इतना ही नहीं फोन ना उठाने पर मीडिया कर्मी भी सीडीओ के पास पहुंचे और उनसे कारण जानना चाहा तो सीडीओ मीडिया से भागते नजर आये।
कोरोना महामारी में जहां चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची है और जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारी लोगों की समस्याओं को दूर करने में जुटे हुए हैं। वही रायबरेली का मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल अपना सरकारी नंबर तक नहीं उठाता। अगर गलती से उठ भी गया तो बड़े ही बेरुखी से जवाब सुनने को मिलता है कि मैं क्या करूं। जबकि इसी मुख्य विकास अधिकारी को कोरोना महामारी में जिले का नोडल अधिकारी बनाया गया है। पिछले कोरोना महामारी में भी इस सीडीओ का यही हाल था और इस प्रलय काल में भी सी डी ओ के लिए आम जनता का जीवन किसी कीड़े मकोड़े के जीवन से ज्यादा नहीं है। ऐसे अधिकारियों के लिए रायबरेली की जनता में जबरदस्त आक्रोश देखने को मिल रहा है। अगर शासन ऐसे भ्रष्ट और निरंकुश अधिकारी पर लगाम नहीं लगाता है तो जल्द ही कोई बड़ी अनहोनी रायबरेली में हो सकती है।
राम अभिलाष (अपर जिलाधिकारी प्रशासन) ने बताया कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। अगर कोई अस्पताल आता है तो उसे वहां पूरी व्यवस्था दी जाएगी। घर के लिए ऑक्सीजन देने में थोड़ी समस्या है। भाजपाइयों से बात कर ली गई है उनके समस्या का भी निदान कर दिया गया है। अगर किसी को दिक्कत होती है तो मुझसे भी बात कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.