कोरोना संकट के बीच निरंतर कोरोना वैरियर्स कर रहे मेहनत…

0
572

रायबरेली। Covid 19 संकट के बीच हर कोई अपने दायित्व का निर्वाह पूरी निष्ठा के साथ कर रहा है सभी अधिकारी डॉ स्वास्थ्य कर्मी सफाई कर्मी और पुलिस बल ने कोरोना काल में योद्धा के रूप में जनसेवा की है परंतु कोरोना योद्धा या कोविड योद्धा की परिभाषा एंबुलेंस कर्मचारियों के बिना एकदम अधूरी है कोरोना काल में सबसे पहला रिस्पांस एंबुलेंस कर्मचारियों द्वारा ही किया जाता है और उन्हें सुरक्षित उचित अस्पतालों पर पहुंचाया जाता है
इस कोरोना काल के शुरुआती दिनों से ही 108 और ALS एंबुलेंस सेवा के कर्मचारी कोरोनावरियर्स की भांति मैदान में डटे हुए हैं विषम परिस्थितियों में भी अपनी जान को जोखिम में डालकर कर्मचारी, कोरोना positive मरीजों को लाने और ले जाने का कार्य कर रहे हैं। यह कर्मचारी दिन रात ड्यूटी कर अपने दायित्व का निर्वाह पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ कर रहे हैं इस समय जनपद रायबरेली में ALS की चार एंबुलेंस और 108 की 13 सिर्फ और सिर्फ धनात्मक मरीजों को ले जाने के लिए तैयार हैं और प्राइमरी कांटेक्ट मरीजों को सैंपल हेतु निर्धारित स्थानों पर ले जाने के लिए सभी सीएचसी पर एक-एक 108 की एंबुलेंस तैनात की गई है जिससे सभी मरीजों को तत्काल अस्पतालों के लिए एवं परीक्षण के लिए निर्धारित स्थान पर ले जाया जा सके।
मरीजों को सेवा देने के दौरान एम्बुलेंस कर्मचारियों द्वारा सभी मानकों को पूर्ण किया जाता है जैसे कि पी पी इस किट को ढंग से पहनना ग्लव्स मास्क शू कवर आदि को सही ढंग से पहनना जिससे कि सेवा देते समय वह स्वयं संक्रमित ना हो
आपको यह भी बताते चलें कि कोरोना काल में ड्यूटी के दौरान ALS एंबुलेंस का एक कर्मचारी और बछरावां सीएससी के 4 कर्मचारी ( बृजभान, रवि बिंद, विनोद रमाकांत, रविशंकर )कोरोना पॉजिटिव हो गए थे पर कोरोना से जंग लड़कर न सिर्फ उन्होंने इस महामारी को हराया बल्कि एक बार फिर से योद्धा के रूप में अपने कार्यस्थल पर वापस आकर इस महामारी से दूसरों को बचाने में पुनः डट गए जब से सैंपलिंग की प्रक्रिया चालू हुई है तब से धनात्मक मरीजों का आना बढ़ गया है इस वजह से सिर्फ अगस्त माह में ही 497 धनात्मक मरीजों को गंतव्य अस्पतालों तक ले जाया गया है कोविड दौरान शुरुआत से लेकर अभी तक ए एल एस और 108 एंबुलेंस द्वारा 898 मरीजों को सेवाएं दी गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.