दबंगों ने बोलेरो में लगाई आग, पुलिस ने मामले को डाला ठंढे बस्ते में

0
598

मनीष अवस्थी

पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने सारे पहलुओं की जांच करके तत्काल कार्यवाही के निर्देश गदागंज पुलिस को दिए

रायबरेलीमनीष अवस्थी: प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ भले ही अपराध पर अंकुश लगाने को लेकर निरंतर प्रयास कर रहे हो और अपराधियों व दबंगो को सलाखों के पीछे भेजने के सख्त निर्देश दिए हो लेकिन इनके अपने ही अधीनस्थ अधिकारी आदेशों की धज्जियां उड़ाने से बाज नही आ रहे है। मामला रायबरेली जिले के गदागंज थाना क्षेत्र का है जहां दबंगो ने दरवाजे पर खड़ी बोलेरो गाड़ी में आग लगा दी और खुलेआम घूम रहे है। लेकिन पुलिस के लंबे हाथ अभी तक दबंगो के गिरेबान तक नही पहुंच सकी है।

धू धूकर जलकर खाक हो गयी बोलेरो

वही पीड़ित की रूप नारायण की माने तो वो गदागंज थाना क्षेत्र के जनकपुर गांव के रहने वाले है और इनके घर के सामने खड़ी बोलेरो गाड़ी संख्या यूपी 33 एम 5895 मैं गदागंज थाना क्षेत्र के पूरे बारिन गांव के रहने वाले दबंग दीप कुमार और प्रदीप कुमार ने आग लगा दी और देखते ही देखते बोलेरो गाड़ी धू-धू कर जलने लगी क्योंकि रात का मामला था इसलिए जब तक आग बुझाने के लिए लोग इकट्ठा होते और कुछ प्रबंध हो पाता तब तक गाड़ी जलकर खाक हो चुकी थी इसकी तहरीर पीड़ित ने गदागंज पुलिस को भी दी लेकिन गदागंज पुलिस दबंगों से सांठगांठ करके मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया जनकपुर के रहने वाले रूपनारायण ने तहरीर के अनुसार दीप कुमार व प्रदीप कुमार से उनका पहले से विवाद चल रहा था एक दिन वह अपने खेत में नाली बना रहे थे जिसको लेकर उन लोगों ने विरोध किया और जान से मारने की धमकी दी इतना ही नहीं रात में आकर घर के सामने खड़ी हमारी बोलेरो को भी आग लगा दिया बोलोरो के अंदर गाड़ी के कागजात वह ₹5000 भी जलकर खाक हो गए रूपनारायण ने गदागंज पुलिस को तहरीर दे दी लेकिन गदागंज पुलिस मामले पर लगातार टालमटोल करती रही।

चर्चित गदागंज पुलिस के कारनामे जगजाहिर

गदागंज पुलिस आए दिन चर्चा में बनी रहती है। पीड़ित दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर होते हैं। और थाने पर न्याय ना मिलने पर फरियादी पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर न्याय की गुहार लगाते रहते हैं।

फिलहाल पुलिस अधीक्षक ने इस मामले पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं । देखना यह है कि गदागंज पुलिस अपने आका के आदेशों का पालन करती है या फिर उन्हें भी गुमराह करके मामले को दबा देती है।

पीड़ित रूपनारायण की पीड़ा का बयान

मेरा नाम रूपनारायण जनकपुर मजरे खजुरी निवासी हमारा सुबह के टाइम दीप कुमार व प्रदीप कुमार से झगड़ा हुआ था। दोनों ने हमें मारने की धमकी दी और मारने दौड़े और कहा कि तुम्हें रहने नहीं देंगे तुम्हें फूँक देंगे और हमें हमारे बाप ने पैदा किया तुम्हें मिटाने के लिए और उसी रात 11:00 बजे के बाद हमारी बोलेरो फूंक दी गई हमारी रोजी रोजी रोटी चली गई है इसी से हम कमाते कमाते थे और थाने में हमने एप्लीकेशन दिया । पुलिस आई एफ आई आर नहीं लिखी। यहां पर पुलिस वाले पकड़ कर ले गए लेकिन शाम को छोड़ दिया । एफआईआर नहीं लिखी गई कोई कार्यवाही नहीं हुई।

क्या कहना है पुलिस अधीक्षक का श्लोक कुमार
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि थाना गदागंज में एक व्यक्ति द्वारा सूचना दी गई कि वह अपने बोलेरो कार बाहर पार्क की सुबह जब उठकर उन्होंने देखा कि उसके बोलेरो जली हुई है। इस संबंध में उन्होंने 2 लोगों को शक के आधार पर, उनके विरुद्ध तहरीर दी है। इसमे यह भी संज्ञान में आया है कि कुछ आपसी पारिवारिक विवाद भी था। इस संबंध में गहनता से जांच की जा रही है और इस संबंध में फायर अफसर से भी रिपोर्ट मांगी गई है। जो तथ्य आएंगे उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.