मुखिया की मौत के बाद तंगहाली झेल रहे परिवार की मदद के लिये अवध फाउंडेशन आगे आया–

0
354

नीतिका द्विवेदी


दृष्टि बाधित बच्चे के इलाज का भी आश्वासन दिया
—संकटमोचन बनकर इलाके में मदद कर रही फाउंडेशन


मोहनलालगंज। कोरोना में घर के मुखिया की मौत के बाद से एकलौते दृष्टिबाधित बेटे के साथ तंगहाली झेल रही रेशमाबानो की मदद के लिये अवध इंटर नेशनल फाउंडेशन आगे आया।मंगलवार को फाउंडेशन से जुड़े लोग पीड़ित परिवार के घर पहुचकर आर्थिक सहायता के साथ राशन सब्जी दी साथ दृष्टि बाधित बच्चे के इलाज का भी आश्वासन दिया।

मोहनलालगंज सिसेंडी के रहने वाले इकबाल अप्रैल महीने में बीमार पड़े तो पड़ोसियों व परिजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया।जहाँ घर मे रखे पैसे के अलावा उधारी लेकर पत्नी रेशमाबानो ने पति का इलाज कराया पर फिर भी इकबाल की जान रेशमाबानो न बचा सकी इसके बाद रेशमाबानो अपने दृष्टि बाधित बच्चे के साथ घर मे अकेली बची इस बीच सिसेंडी के कुछ लोगो ने मदद की पर लगातार आर्थिक तंगी झेल रही थी।सोमवार को इसकी जानकारी राजधानी में रहने वाले अवध इन्टर नेशनल फाउंडेशन के अतुल शर्मा को हुई इसके बाद अतुल शर्मा ने फाउंडेशन से जुड़े समाजसेवी अखिलेश द्विवेदी व राघवेंद्र तिवारी को भेजकर आर्थिक मदद के लिये फाउंडेशन की तरफ रेशमाबानो को चेक सौपा और साथ राशन किट के अलावा सब्जी देकर मदद की इस पर रेशमाबानो के अलावा आसपास के लोगो ने फाउंडेशन का आभार प्रकट किया।

लगातार फाउंडेशन के लोग मदद कर रहे है——

समाजसेवी राघवेंद्र तिवारी ने बताया कि फाउंडेशन पिछले कोरोना संकटकाल में इलाके के सैकड़ो लोगो को राशन किट के अलावा नगद खातों में पैसे भेजकर मदद की और इस बार भी आपातकाल जैसे हालातों में फाउंडेशन के अतुल शर्मा ने लोगो के सीधे खाते में पैसे भेजने के अलावा किसी भी बीमारी से पीड़ित गरीबो के लिये निशुल्क दवा देने की मुहिम शुरू की जिसमें सैकड़ो लोगो को काफी राहत मिली।और लगातार मदद अभियान जारी कर रखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.