क्या राहुल गांधी अब अमेठी नही आएंगे ?

0
426

कोरोना महामारी मे भी नही आये अमेठी.वायनाँड के लिए रहा समय.ये कैसा है अमेठी से परिवार का रिस्ता


जगदीश पीयूष के निधन पर भी राहुल नही आये अमेठी माने जाते थे गाधी परिवार के करीबी


अमेठी:परिवारिक रिस्ता,परिवारिक रिस्ता सुनते सुनते अमेठी के लोग ₹भ्रमित होने लगे है कि परिवारिक रिस्ते का मतलब होता क्या है..क्या स्वार्थ ही परिवारक रिस्ता है।

कांग्रेस ने आज एक लिंक ट्वीट कर लिखा राहुल का अमेठी से राजनैतिक नही परिवारिक रिस्ता है उसे देखने के बाद मेरे मन मे आया कुछ लिखा जाय ..जब कि मै जानता हूँ की मेरे लिखने से कुछ लोगो का मानसिक संतुलन बिगड जायेगा कुछ लोग मेरे खिलाफ अनाप सनाप कमेंट भी करेगे लेकिन सच्चाई को लिखूगा जरूर..।

राहुल गांधी जब अमेठी के सांसद थे तो उनके लापता होने के पोस्टर लगते थे और राहुल कुछ दिन बाद आ कर अमेठी की सडको पर पारिवारिक रिस्ते की दोहाई देकर काम चला लते थे..राहुल जब 2019 मे भाजपा की स्मृति ईरानी से चुनाव हार गये तो उस परिवारिक रिस्ते वाली बात को भूल गये…

रोहित कुमार राहुल के परिवारिक रिस्ते की बात सवाल उठाते हुए कहते है राहुल को चुनाव हारे दो साल बीत गये है और 16 महीने से अमेठी कोरोना महामारी से भी जूझ रही है इस दौरान अमेठी मे तमाम परिवार बेसहारा हो गये ,तमाम महिलाओ का सिंदूर मिट गया,तमाम बच्चो के सर से मां बाप का साया चला गया,तमाम माताओ की गोद सूनी हो गयी ,हर तरफ लोगो को मदद की दरकार थी यही नही इसके अलावा भी भारी वारिश मे तमाम लोगो की जाने गयी ,तमाम लोगो को रहने का ठिकाना भी चला गया ऐसी तमाम घटनाएं हुई जो अमेठी को हिला कर रख दी फिर भी राहुल गांधी ने अमेठी आना उचित नही समझा ये कैसा परिवारिक रिस्ता है….।

सुरेंद्र कुमार कहते है राहुल गांधी के सांसद रहते उनके पिता स्वः राजीव गांधी के बहुत करीबी रहे जगदीश पीयूष की पत्नी का निधन हो गया उसी बीच राहुल अमेठी आये पर उनका दर्द बांटने नही गये आप सब को ज्ञात है कि कुछ ही दिन पहले जगदीश पीयूष का भी निधन हुआ जो उनके पिता के खासम खास थे उसमे भी राहुल के पास आने का समय नही रहा ये वे जगदीश पीयूष थे जो राहुल के पिता के निधन पर अमेठी से श्रीपेरंबदूर तक पदयात्रा की थी राजीव गांधी पर कई किताबे भी लिखी…जब कि भाजपा के एक मामूली से नेता के निधन पर स्मृति ईरानी कंधा देने अमेठी पहुच जाती है..सवाल तो उठेगा ये कैसा राहुल का परिवारिक रिस्ता अमेठी से है।

सुनील तिवारी कहते है कि संजय गांधी अस्पताल मे अमेठी के कर्मचारियो का उत्पीडन किस रिस्ते मे आता है जनता इस पर भी रिस्ता जानना चाहती है…सुनील ने कहा कि यह भी परिवारिक रिस्ते का ही हिस्सा है क्या जो राहुल ने वायनाँड मे कहा था कि अमेठी के लोगो मे समझ की कमी है..

अमेठी निवासी रवींद्र मिश्रा कांग्रेस द्धारा अमेठी से राहुल गांधी के परिवारिक रिस्ते की बात पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर राहुल गांधी अमेठी से परिवारिक रिस्ते की बात करते है तो इस महामारी मे अमेठी क्यो नही आये ..आज तक उंहोने अमेठी मे आकर क्यों नही खुद बोले कि अमेठी से मेरा राजनीति का नही परिवार का संबंध है…

अमेठी से तारकेशवर मिश्रा की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.