अमेठी:महिला व बाल अपराध नियंत्रण में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं-नोडल अधिकारी

0
545

अमेठी: प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास पुष्टाहार उ0प्र0 शासन/नोडल अधिकारी मोनिका एस गर्ग ने दो दिवसीय जनपद भ्रमण के दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर कानून व्यवस्था, शासन के प्राथमिकता कार्यक्रमों एवं निर्माण कार्यों की विभागवार समीक्षा किया और उन्हें स्पष्ट निर्देश दिये कि सरकार विकासपरक योजनाओं व जन कल्याणकारी कार्यक्रमों को लेकर बहुत ही संवेदनशील है। इसलिये सभी अधिकारी व्यक्तिगत प्रयास करके विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों को धरातल पर लागू करें।
नोडल अधिकारी ने समीक्षा बैठक में जनपद की कानून व्यवस्था, महिला अपराध नियंत्रण, बाल अपराध, दहेज, हत्या, अवैध खनन व कमजोर वर्ग पर विशेष ध्यान दिये जाने पर जोर दिया। कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि मूर्ति विसर्जन के दौरान घाटों पर जो कटान हो उसे ठीक करा दें तथा किसी भी स्तर पर प्रतिमाओं का नदी में विसर्जन न होने पाए बल्कि उसे घाट के किनारे गड्ढे खुदवा कर बंद कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। महिला व बाल अपराध में किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाए, जैसे ही कोई पीड़ित थाने में आए तो उसकी तत्काल रिपोर्ट दर्ज की जाए। बालिका सुरक्षा जागरूकता अभियान निरंतर चलाते रहें, एंटी भू माफियाओं को चिन्हित कर उन पर कड़ी कार्यवाही करें, उन्होंने जनपद में यातायात की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी आंगनवाड़ी केंद्रों पर शौचालय बनवाने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारी ने मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक बालिकाओं के ऑनलाइन आवेदन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जी का निर्देश है कि केन्द्र व प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं तथा जन कल्याणकारी कार्यक्रमों को सभी अधिकारी धरातल पर लागू करें। उन्होंने जिले की चिकित्सा एवं स्वास्थ्य व्यवस्था को और बेहतर किये जाने का निर्देश दिया। नोडल अधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत शौंचालयों का निर्माण, गोवंश आश्रय स्थलों पर निराश्रृत गोवंश, प्रधानमंत्री शहरी आवास, आयुष्मान भारत, सामूहिक विवाह योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, बीज व उरर्वकों की उपलब्धता प्रत्येक दशा में सुनिश्चित की जाये। उन्होंने समीक्षा बैठक में प्रोबेशन व समाज कल्याण, दिव्यांगजन कल्याण विभाग में लंबित पेंशन आवेदनों को एक माह के भीतर निस्तारित करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि विभिन्न विभागों के निर्माण कार्यों को सम्बन्धित विभाग के अधिकारी तथा कार्यदायी संस्था आपसी समन्वय स्थापित कर मानक एवं गुणवत्ता के अनुरूप समय से पूर्ण करायें।
उन्होंने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि पशुओं का टीकाकरण समय से कराया जाये तथा गोवंश आश्रय स्थलों पर पशुओं के लिये समुचित प्रबन्ध कराये जायें, जिससे पशुओं की हानि न हो सके। स्वच्छता कार्यक्रमों की समीक्षा में अधिशाषी अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि नगरीय क्षेत्रों में कहीं भी गन्दगी न मिले अभियान चलाकर सफाई करायी जाये तथा ठोस अपशिष्ट प्रबन्ध के लिये भी ठोस कदम उठाये जाने के साथ-साथ स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरूकता उत्पन्न करायी जाये।
नोडल अधिकारी ने बैठक में अधिशाषी अभियन्ता पीडब्ल्यूडी, लो0नि0वि0/प्रान्तीय को निर्देशित किया कि जनपद में नई सड़कों का निर्माण, सेतुओं का निर्माण, गड्ढा मुक्त सड़कों को मानक एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से समय पूर्ण कराये जायें। उन्होंने बाल विकास, कृषि, खाद्य एवं रसद, मुख्यमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, खाद्य एवं रसद के अन्तर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, जन शिकायतों का निस्तारण की समीक्षा कर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए अधिक्षण अभियंता को निर्देश दिया कि सरकार की मंशानुरूप रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति की जाये तथा ग्रामों का ऊर्जीकरण, सौभाग्य योजना के अन्तर्गत नये विद्युत कनेक्शन की भी समीक्षा की। नोडल अधिकारी ने स्पष्ट रूप से उपस्थित अधिकारियों को निर्देश किया कि अगले माह के उनके भ्रमण से पूर्व अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यक्रमों को धरातल पर प्रत्येक दशा में दिखायें।
बैठक में जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा ने प्रमुख सचिव, महिला एवं बाल विकास पुष्टाहार उ0प्र0 शासन/नोडल अधिकारी को आश्वस्त किया कि समीक्षा बैठक में दिये गये निर्देशों का अक्षरश: अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक डॉ ख्याति गर्ग, मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ, अपर जिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम सरोज, समस्त एसडीएम/सीओ, सीएमओ, डॉ0 आर एम श्रीवास्तव, डीएफओ, पशु चिकित्सा अधिकारी, जिला विकास अधिकारी बंशीधर सरोज, पीडी डीआरडीए आशुतोष दूबे सहित अन्य विभागों के जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.