अमेठी: मशरूम बना आमदनी का जरिया

0
219

अमेठी: एसीसी के सहयोग से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा मशरूम उत्पादन शुरू किया । एसीसी ट्रस्ट टिकारिया सीमेंट वर्क्स के सहयोग से आसपास के महिला किसानों की आमदनी बढ़ाने हेतु निरन्तर सहयोग किया जा रहा है इसी कडी में 4 गाँवो की 25 महिला किसानों को मशरूम उत्पादन हेतु एक्सपोजर विजिट कराके चयनित महिला किसानों को प्रशिक्षण देकर उन्हें आवश्यक सुविधाएं ,तकनीक , और बीज उपलब्ध करवाकर गौरीगंज क्षेत्र में पहली बार मशरूम का उत्पादन शुरू किया गया । गांव बाबूपुर में 4 ,अन्नीबैजल में 1,गुडूर में 3 और अर्गवा में 4 महिला किसानों द्वारा कुल मिलाकर 12 महिलाओं किसानों द्वारा मशरूम उत्पादन यूनिट लगाया गया है जिसमे प्रत्येक यूनिट में प्रतिदिन कम से कम 1 किलो मशरूम का उत्पादन शुरू हो गया है महिला किसान श्यामा ,और सरजू देवी बताती है कि जैसे जैसे ठंडी बढ़ती जायेगी वैसे वैसे मशरूम का उपादन बढ़ता जायेगा जो मशरूम का उत्पादन हो रहा है वो गांव में ही बिक जा रहा है जिससे प्रतिदिन 150 से 200 रुपये की आमदनी अभी हो जा रही है जैसे उत्पादन बढेगा वैसे प्रतिदिन की आमदनी बढ़ती जायेगी । महिलाएं कहती है कि कभी नहीं सोचा था कि एक दिन हम भी मशरूम का उत्पादन कर पाएगे।

हम सबका सपना सच कर दिया एसीसी ट्रस्ट टिकरिया ने लगातार हम सबका सहयोग किया और अच्छी किस्म का बीज ,दवा ,पैकिंग मशीन उपलब्ध कराई और समय समय पर मशरूम उत्पादक विशेषज्ञ द्वारा जानकारी देते रहे जिसके फलस्वरूप सभी यूनिट में उत्पादन शुरू हो गया अपने आस पास में पहली बार मशरूम उत्पादन का कार्य शुरू हुआ है जिससे गाँवो में मशरूम यूनिट कौतूहल का विषय बना है इस सराहनीय पहल के लिए 4 गाँवो के किसानों द्वारा एसीसी ट्रस्ट को धन्यवाद दिया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.