अमेठी: ‘मिशन शक्ति’ पीआरवी वाहन को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

0
373

अमेठी से सफीर अहमद की रिपोर्ट

विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्मानित।

महिला कांस्टेबलों को बॉडी बोर्न कैमरा किया वितरित

अमेठी: महिलाओं तथा बच्चों के विरुद्ध हिंसा से रोकथाम हेतु “मिशन शक्ति” अभियान का शुभारंभ आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी अरुण कुमार व विधायक तिलोई मयंकेश्वर शरण सिंह ने किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा एवं स्वावलम्बन हेतु मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है। मिशन शक्ति का उद्देश्य महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन हेतु बालिकाओं को स्वावलम्बी बनाना, उन्हें सुरक्षित परिवेश की अनुभूति कराना, जन जागरूकता पैदा करना, आत्म सुरक्षा की कला विकसित करने हेतु महिलाओं तथा बच्चों को प्रशिक्षित करना तथा उनके प्रति हिंसा/अपराध करने वालों की पहचान उजागर करना होगा।

यह अभियान आज से प्रारम्भ होकर दिनांक 25 अक्टूबर तक संचालित किया जायेगा जिसमें महिला कल्याण विभाग, बाल विकास सेवा पुष्टाहार, महिला शक्ति केन्द्र, वन स्टाप सेन्टर, जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा प्रतिभाग किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत जनपद स्तर पर शासन द्वारा नोडल अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर को नामित किया गया है। उन्होने उपस्थित महिलाओं और बालिकाओं को जागरूक करते हुये कहा कि स्वयं आत्मनिर्भर बने, प्रदेश सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण एवं महिला सम्मान सुरक्षा के लिये विभिन्न सेवाएं प्रारंभ की गई है, जिसके अन्तर्गत 1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्पलाइन, 1078 मा0 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1098 पावर चाइल्ड लाइन, 102 स्वास्थ्य सेवायें एवं 108 एम्बुलेन्स सेवायें आदि सम्मिलित है। कार्यक्रम के दौरान  मयंकेश्वर शरण सिंह ने कहा कि मिशन नारी सशक्तिकरण के साथ-साथ बालिकाओं के सशक्तिकरण के लिए भी कार्य किया जाए उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाए। महिलायें अपने ऊपर हो रहे उत्पीड़न एवं भ्रष्टाचार की आवाज निष्पक्ष रूप से बुलन्द करें, हम सब मिलकर इस दिशा में चलेगें और अपनी बेटियों को सुन्दर पृथ्वी देंगे ताकि वे निडर होकर समाज की हर बुराईयों को समाप्त कर सकें।

नारी समाज सशक्त होना चाहता है तो इसके लिये शिक्षा बहुत आवश्यक है इसलिये बालिकाओं को शिक्षित अवश्य करें जिससे कि वे अपने परिवार व देश का नाम रोशन करें और आत्मनिर्भर बने। मुख्य विकास अधिकारी ने इस कार्यक्रम में आयी सभी महिलाओं से कहा कि मिशन शक्ति अभियान को सफल बनाने में अपना सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा बालिकाओं व महिलाओं के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं योजना के अन्तर्गत कन्या भू्रण हत्या रोकने हेतु पीसीपीएनडीटी कानून के अन्तर्गत महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा से बचाव, सहायता, बाल विवाह रोकथाम, कोविड-19 के रोकथाम, एवं विभागीय योजनाओं मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला, निराश्रित महिला पेंशन, उत्तर प्रदेश रानी लक्ष्मीबाई महिला एवं बाल सम्मान कोष तथा अन्य कल्याणकारी योजनाओं संचालित है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा हेतु सदैव तत्पर है और अनेकों प्रकार की योजनायें संचालित करके उन्हें योजना से लाभान्वित किया जा रहा है।

मिशन शक्ति अभियान के शुभारंभ के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं तथा नेशनल शूटर सुश्री रुचि सिंह को जिलाधिकारी, मा. विधायक, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया तथा पुलिस विभाग की 8 महिला कांस्टेबलों को बॉडी बोर्न कैमरा भी वितरित किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी व मा. विधायक ने मिशन शक्ति अभियान का जन-जन में वृहद स्तर पर व्यापक प्रचार प्रसार के लिए सूचना विभाग द्वारा भेजी गई एलईडी वीडियो वैन तथा जनपद के समस्त 14 थानों में पिंक पीआरवी-112 वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह, मुख्य विकास अधिकारी डा. अंकुर लाठर, जिला प्रोबेशन अधिकारी अजय पाल सिंह एवं अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.