अमेठी:नहर में गंदगी का अंबार,संक्रमण बीमारियों को दे रहा दावत

0
527

अमेठी से सफीर अहमद की रिपोर्ट

शुकुल बाजार अमेठी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के बाद भी सरकारी महकमे तो दूर आम लोगों की आदतें नहीं सुधर पाई हैं। गेरावा रजबहा कस्बे के पास में पड़ी गंदगी व कूड़े के ढेर ऐसा ही कुछ बयां कर रहे हैं। नहर में पानी नहीं चलने से गंदगी और बढ़ गई है, लेकिन निस्तारण की किसी को सुध नहीं है।

गेरावा रजबहा से निकली हुई माइनर नहर कस्बे से होकर गुजरती है नहर में गंदगी का अंबार लगा है विभाग इस नहर की सफाई कराने की जहमत नहीं उठा रहा है वही इस नहर के आसपास रहने वाले लोगों को नहर के कचरे से उठ रही दुर्गंध व इसमें पनपने वाले मच्छरों का सामना करना पड़ रहा है। इससे लोगों में भारी रोष है खेतों में बेहतर सिंचाई के लिए बनाई माइनर नहर लोगों की परेशानियों का सबब बनी है।
नहर में पानी नहीं चलने से जगह-जगह नहर कूड़े व गंदगी से पट गई है। साफ-सफाई करने के बजाय गंदगी नहर में फेंक दी जाती है। हालत यह है कि नहर को कूड़ादान बना दिया गया है। सिंचाई महकमा तो क्या लोग भी इस ओर मुंह फेरे हुए हैं। नतीजा स्थानीय वाशिंदों का जीना दूभर हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.