अमेठी: सड़कों पर अवैध अतिक्रमण को लेकर डीएम ने व्यापारियों, रिक्शा/टैक्सी स्टैंड संचालकों के साथ की बैठक

0
125

अमेठी: जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने कलेक्ट्रेट सभागार में सड़क सुरक्षा अभियान के अंतर्गत सड़कों पर अवैध अतिक्रमण को लेकर जनपद के व्यापारियों, रिक्शा/टैक्सी स्टैंड संचालकों के साथ बैठक किया एवं शासन द्वारा प्राप्त निर्देशों को अवगत कराया। बैठक में डीएम ने कहा कि शासन के निर्देश के क्रम में जनपद में सड़क सुरक्षा अभियान चलाया जा रहा है खासकर शहरी क्षेत्रों एवं बाजारों में दुकानदार अपनी दुकान के बाहर भी सामान लगा लेते हैं जिसके कारण वाहनों के आने-जाने में समस्या उत्पन्न होती है तथा जन सामान्य को असुविधा का सामना करना पड़ता है उन्होंने सभी व्यापारियों व दुकानदारों को अपना सामान अपनी दुकान के अंदर ही लगाने के निर्देश दिए जिससे अवैध अतिक्रमण से बचा जा सके।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा बड़े वाहनों को सड़क के किनारे खड़े कर दिए जाते हैं जिससे दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है, उन्होंने कहा कि सड़क के किनारे, ढाबा व होटलों के सामने वाहनों को ना खड़ा किया जाए। बैठक में जिलाधिकारी ने अवैध टैक्सी स्टैंडों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए साथ ही ठेले व दुकानें जो अवैध रूप से लगी हों उनके मालिकों से वार्ता कर उन्हें सही जगह लगवाया जाए जिससे जाम की समस्या ना उत्पन्न हो। डीएम ने बताया कि अवैध अतिक्रमण तथा सुचारू रूप से यातायात की व्यवस्था हेतु पुलिस विभाग की ओर से अपर पुलिस अधीक्षक तथा प्रशासन की ओर से अपर जिलाधिकारी न्यायिक को नोडल अधिकारी नामित करते हुए स्थानीय स्तर पर व्यापारियों व विभिन्न संगठनों से वार्ता कर उन्हें यातायात नियमों के संबंध में जागरूक करने तथा अवैध अतिक्रमण के विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, अपर जिलाधिकारी न्यायिक आरके द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व अजीत कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक वीके पांडे, जिला विकास अधिकारी तेजभान सिंह, एआरटीओ प्रशासन व प्रवर्तन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सीमा मेहरा, सहित अन्य संबंधित अधिकारी, अजय अग्रवाल अध्यक्ष व्यापार मंडल गौरीगंज सहित अन्य व्यापारीगण व रिक्शा/टैक्सी स्टैंडों के संचालक आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.