अमेठी: बीजेपी विधायक प्रतिनिधि को गुस्सा आया,तहसील दिवस में दिखी दबंगई

0
547

अमेठी: अमेठी जिले के बीजेपी विधायक प्रतिनिथ को गुस्सा आया। तो खो बैठे आपा। आए दिन विधायकों एवं नेताओं के साथ-साथ अधिकारियों कर्मचारियों की दबंगई देखने को मिलती है।
इस बार यह मामला अमेठी तहसील में देखने को मिला। जहां पर तहसील परिसर के अंदर सभागार में एसडीएम महात्मा सिंह की अध्यक्षता में तहसील दिवस के तहत जन सुनवाई चल रही थी । इसी बीच एक पीड़ित अपनी शिकायत लेकर जन सुनवाई में उपस्थित हुआ और अपनी बात बताते बताते वह ऊंची आवाज में बात करने लगा। जिससे नाराज अमेठी प्रशासन ने संज्ञान लेते हुए तत्काल उसे जेल भेजने का निर्देश दिया।
इस बात की सूचना जैसे ही अमेठी से बीजेपी विधायक महारानी गरिमा सिंह के पुत्र एवं प्रतिनिधि राजकुमार अनंत विक्रम सिंह को लगी। तत्काल वह तहसील दिवस में चल रही जनसुनवाई के बीच में मंच पर पहुंच गए। जहां पर एसडीएम और पुलिस क्षेत्राधिकारी के साथ तहसील स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। मंच पर पहुंचते ही विधायक प्रतिनिधि ने अपना आपा खोते हुए एसडीएम और सीओ के ऊपर फायर हो गए । उन्होंने तो यहां तक कहा कि जब तक पीड़ित को बुलाकर उससे माफी नहीं मांगी जाती है तब तक हम यहां से नहीं जाएंगे। फिलहाल कड़ी मशक्कत के बाद एसडीएम और सीओ विधायक प्रतिनिधि को किसी तरह से समझा-बुझाकर अपने ऑफिस में ले गए। जहां पर एसडीएम ऑफिस के बंद कमरे में एसडीएम महात्मा सिंह और सीओ अर्पित कपूर के साथ विधायक प्रतिनिधि अनंत विक्रम ने पीड़ित के सामने वार्ता की लगभग आधे घंटे चली । इस वार्ता के दौरान जब अधिकारियों ने मामले की जांच कर पीड़ित को न्याय दिलाने का आश्वासन विधायक प्रतिनिधि तो दिया । तभी जाकर मामला शांत हुआ इस पूरे प्रकरण में के दौरान लगभग आधे घंटे से अधिक समय तक तहसील दिवस की जनसुनवाई स्थगित रही और फरियादी इधर से उधर टहलते नजर आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.