अमेठी: खड़े-खड़े कबाड़ हो गई 108 एंबुलेंस ?

0
154

अमेठी में मरीजों को लाने और ले जानी वाली कबाड़ हो गई है। अब यह एंबुलेंस नहीं है, यह गाड़ी रिपेयरिंग की दुकान बन गई है। आप सोच रहे हैं यह कैसे हुआ। आइये आपको समझाते हैं।

अमेठी में 108 एंबुलेंस से मरीज नहीं ले जाए जाते बल्कि गाड़ी की मरम्मत होती है। चौंकाने वाली यह तस्वीर मुसाफिरखाना तहसील क्षेत्र के कमरौली इलाके की बताई जा रही है औऱ यह काफी वायरल हो रही है।

सरकार ने लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए अपनी महत्वाकांक्षी योजना के तहत 108 एंबुलेंस चलाई थी। इससे जहां लोगों को काफी लाभ हुआ। खासकर ग्रामीण अंचलों में उन लोगों को इसका लगातार लाभ मिल रहा है। जिनके पास दूर-दराज के अस्पतालों तक जाने के लिए अपना साधन नहीं था।
स्थानिय लोगों की माने तो कुछ साल पहले एक एंबुलेंस खराब होकर खड़ी हो गई थी। सरकारी संपत्ति होने के बावजूद विभाग ने इसकी सुध नहीं ली।
काफी दिन इंतजार के बाद पास के एक मिस्त्री जुगाड़ कर इसको उपयोग में ले आया। उसने एंबुलेंस के पिछले गेट को अपनी दुकान का मुख्य गेट बनाते हुए उसमें गैस वेल्डिंग का उपकरण रखकर रिपेयरिंग करने लगा। दुकानदार प्रतिदिन ताला खोलकर दुकान खोलता है और शाम को ताला बंद करता है। वहां के स्थानिय लोगों का कहना है इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। पिछले कई सालों से यहां पड़ी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.