सूरज ढलने के बाद अंधेरे के आगोश में समा जाता है कस्बे का ओवर ब्रिज

0
244

रिपोर्ट:ऋषि मिश्रा


बछरावां रायबरेली। कस्बे में बांदा बहराइच राजमार्ग पर बना ओवर ब्रिज सूरज ढलने के बाद अंधेरे के आगोश में समा जाता है। इस ओवर ब्रिज पर स्ट्रीट लाइटें तो लगाई गई हैं। लेकिन देख रेख के अभाव में कुछ के पोल झुक गए हैं और कुछ तो जलती ही नहीं है। जो निरंतर किसी बड़ी दुर्घटना को दावत दे रही हैं। बात की जाए तो अंधेरे में जहां साइकिल और पैदल चलने वाले राहगीरों को परेशानी हो रही है, वहीं ओवरब्रिज पर राहजनी का भी भय बना रहता है। विदित हो कि बछरावां कस्बे में रेलवे क्रॉसिंग पर जाम की समस्या को देखते हुए लगभग 968 मीटर लंबा ओवरब्रिज बांदा बहराइच राजमार्ग पर बनाया गया था। परंतु इस पर लगी स्ट्रीट लाइट आज तक नहीं जली और पोल जर्जर होकर टूटकर झुक गए।

इस समस्या पर क्या कहना है कस्बे के संभ्रांत व्यापारी एवं प्रबुद्ध वर्ग का: ओवरब्रिज पर अंधेरे की समस्या को लेकर जब संवाददाता ने कस्बे के संभ्रांत व्यापारी डॉ विजय पाल, प्रशांत मिश्रा, डॉक्टर चंद्र त्रिपाठी से बात की तो उन्होंने बताया कि ओवर ब्रिज पर प्रकाश की व्यवस्था न होने के कारण अनवरत राहजनी, छेड़छाड़ एवं अन्य अपराधिक घटनाओं का भय बना रहता है। कई बार सफेद पोशाक पहनकर समाज के बीच जाने वाले जनप्रतिनिधि बने नेताओं को इस समस्या के विषय में अवगत कराया गया परंतु अभी तक इसका निराकरण नहीं हुआ है।

इस समस्या पर क्या कहना नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी श्वेता सिंह का: कस्बे में बने ओवर ब्रिज पर स्ट्रीट लाइट की समस्या को लेकर जब संवाददाता ने दूरभाष के माध्यम से नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी श्वेता सिंह से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि अभी संबंधित विभाग द्वारा हमे यह कार्य स्थानांतरित नहीं किया गया है। जैसे ही यह मुझे स्थानांतरित किया जाएगा वैसे ही हम जल्द से जल्द ओवर ब्रिज पर प्रकाश की समस्या का निराकरण करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.