गोद लेने के बाद अब बदलेगी स्कूलों की सूरत

0
266

रायबरेली(मनीष अवस्थी) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री महंत योगी आदित्यनाथ का बेसिक शिक्षा विभाग पर विशेष ध्यान रहा है। इस वर्ष सरकारी स्कूलों में बच्चोँ के नामांकन का रिकॉर्ड लक्ष्य दो करोड़ रखा गया है। स्कूलों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए अधिकारियों, नेताओ, मंत्रियों द्वारा सरकारी स्कूल गोद लेने की भी बात कही है।

जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने
जिले के समूह क और ख वर्ग के राजपत्रित अधिकारियों की सरकारी स्कूल गोद लेने की सूची जारी की है।

जिसमें राजपत्रित अधिकारी अपने से संबंधित स्कूल को शासकीय व व्यक्तिगत प्रयास से मॉडल स्कूल के रूप में विकसित करेंगे।
जिलाधिकारी ने स्वयं राही ब्लाक का कम्पोजिट विद्यालय भुएमऊ, मुख्य विकास अधिकारी ने हरचंदपुर ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय छतैया और नगर क्षेत्र का सबसे बड़ा विद्यालय लगभग पौने दो बीघे क्षेत्रफल का कम्पोजिट विद्यालय बेलीगंज जिला विकास अधिकारी ने गोद लिया है।
जिले के 62 स्कूल इन राजपत्रित अधिकारियों द्वारा मॉडल स्कूल के रूप में विकसित हो सकेंगे। नगर खण्ड शिक्षा अधिकारी प्रियंका सिंह के निजी प्रयासों से जिले के कुल 62 स्कूल मे से नगर क्षेत्र के 5 स्कूल गोद लेने वाली सूची मे शामिल हो सके हैँ। प्राथमिक विद्यालय मलिक मऊ,, प्राथमिक विद्यालय मोहिद्दीन पुर,, प्राथमिक विद्यालय रायपुर ,,कमपोजिट बैलीगंज एवं यूपीएस सत्य नगर अधिकारियों द्वारा गोद लिया गया है।।अब नगर क्षेत्र के जर्जर और पिछड़े स्कूल अधिकारियों द्वारा गोद लेने से उनके व्यक्तिगत और शासकीय प्रयासों से नये कलेवर मे आ सकेंगे। स्कूलों का कायाकल्प हो सकेगा और पढ़ाई का बेहतर माहौल बन सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.