दो दिन में 4.29 लाख लोगों ने खाई फाइलेरिया की गोली

0
121

• स्वास्थ्य कार्यकर्ता से दवा सिर्फ लें नहीं बल्कि उनके सामने ही दवा खाएं : सीएमओ


जिले के 14 ब्लॉकों में 100 प्रतिशत हुआ है फाइलेरिया की दवा का सेवन


रायबरेली, (उमेश यादव) जिले में फाइलेरिया अभियान के शुरुआती दो दिनों में 4 लाख 29 हजार लोगों ने दवा का सेवन कर लिया है। यह कहना है मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीरेंद्र सिंह का।

सीएमओ ने बताया कि 23 मई से शुरू हुआ यह अभियान 7 जून तक चलेगा। उन्होंने शुरुआती दो दिनों की प्रगति साझा करते हुए बताया कि जनपद में कुल 19 ब्लॉक हैं। इसमें 14 ब्लॉक में दवा वितरण शून्य प्रतिशत यानि दवा का सेवन 100 प्रतिशत है। शेष में दवा वितरण 3 प्रतिशत से 20 प्रतिशत की जानकारी मिली है। इन 5 ब्लॉकों के संबंधित सभी अधीक्षकों को निर्देशित कर दिया गया है। जल्द इन ब्लाकों में भी दवा का सेवन 100 प्रतिशत हो जाएगा।

सीएमओ ने जिलेवासियों से अपील की है कि आप अपने घर आने वाले स्वास्थ्य कार्यकर्ता से दवा सिर्फ लें नहीं बल्कि उनके सामने ही दवा खाएं। सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को निर्देश है कि दवा बांटना नहीं है। अपने सामने खिलाकर आना है। दवा का वितरण बिल्कुल भी नहीं करना है। इसलिए सहयोग करें।

नोडल सहायक चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर दिलीप सिंह ने बताया कि यदि किसी को जी मिचलाना, उल्टी, बदन दर्द, थकान, चक्कर या सुस्ती के लक्षण महसूस होते हैं। तो घबराए नहीं, ज्यादा संक्रमित व्यक्ति में इस तरह के लक्षण दिखना आम बात है। ये लक्षण ही बताते हैं कि आपके अंदर माइक्रोफाइलेरिया के बैक्टीरिया हैं जो अब खत्म हो रहे हैं। फिर भी दवा सेवन के बाद किसी तरह से असहज होने पर इसकी सूचना आशा को जरूर दें। उन्होंने बताया कि इस तरह के मामलों को संभालने के लिए हमारी रैपिड रिस्पांस (आरआर) टीम हमेशा तैयार रहती है। आवश्यकता पड़ने पर 108 एम्बुलेंस सेवा भी उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि भीतर गांववासी 17 वर्षीय युवक को मंगलवार को दवा सेवन के बाद बदन दर्द और जी मचलाने जैसी असहजता महसूस हुई। आरआर टीम की सक्रियता से युवक को खीरों ब्लाक में भर्ती कराया गया। वहीं खीरों अस्पताल के डॉ राहुल ने बताया कि युवक के परिवार के 4 लोगों ने एक साथ दवा खाई थी। अधिक संक्रमित होने के कारण युवक को कुछ तकलीफ हुई। उसको अस्पताल लाया गया। दो घंटे बाद ही स्वस्थ युवक को घर भेज दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.