अमेठी:प्रशासन की मनमानी के विरोध में सड़क पर उतरे व्यापारी

0
354

अमेठी: कोरोनावायरस से फैली महामारी ने लोगों की कमर तोड़ रखी है । पिछले 6 महीने से व्यापारियों के सारे व्यापार मृत पड़े थे ।

लॉकडाउन के कारण शादी विवाह आयोजन इत्यादि ना होने के चलते व्यापार से ही अपनी रोजी-रोटी तथा घर परिवार को चलाने वाले व्यापारियों को बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा था । ऐसे में अब जब अनलॉक के तहत दुकानें खोली गई है । धीरे धीरे व्यवस्था पटरी पर आना शुरू हो रही थी । तभी अमेठी कस्बे के ककवा रोड के लगभग 300 व्यापारी परिवारों के ऊपर प्रशासन की मार पड़ना शुरू हो गई । क्योंकि इसी बीच सरकार के द्वारा ककवा रोड रेलवे क्रॉसिंग पर फ्लाईओवर का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया । ऐसे में सड़क के दोनों तरफ जितनी भी दुकानें हैं सभी को अतिक्रमण के तहत तोड़ने का निर्देश दे दिया गया । जिसको लेकर प्रशासन और व्यापारियों के साथ तमाम बैठक की गई लेकिन सभी बैठकों एवं वार्ता का नतीजा शून्य निकला । सबसे बड़ी बात तो यह है कि इन व्यापारियों को अस्थाई रूप से कोई निर्देश नहीं मिल रहा है । दूसरा तो कल दूसरा कोई 8 मीटर खाली करने को कह रहा है तो कोई 9 मीटर खाली को करने को कह रहा है । ऊपर से हम लोगों को पर्याप्त समय दिए बिना जैसे ही एसडीएम अमेठी योगेंद्र सिंह तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर के संयुक्त नेतृत्व में पुलिस फोर्स तथा जेसीबी मशीनों के साथ पहुंचकर ककवा रोड पर मकानों को तोड़ने का कार्य शुरू कर दिया गया। जिसको लेकर ककवा रोड के सभी व्यापारी परिवार लामबंद होकर सड़क पर आ गए और जेसीबी को चलने से रोकने लगे। उनका साफ तौर पर कहना है कि हम लोगों को पर्याप्त समय दिया जाए ऐसे ही हमारा घर और दुकान जो पिछले 50 वर्षों से बना हुआ है उसको थोड़ा ना जाए नहीं तो हम लोग पूरी तरह से खत्म हो जाएंगे एक तो करोना ने मार डाला है ।

दूसरे प्रशासन की इस तरह से जबरदस्ती और गुंडागर्दी से हम लोग पूरी तरह से तबाह हो जाएंगे । इसी के साथ वहां के व्यापारियों ने एसडीएम अमेठी के ऊपर तानाशाही एवं गुंडागर्दी का आरोप लगाते हुए कहा कि अभी 2 दिन पहले हम लोगों को नोटिस दी गई है । इसके बावजूद आज इस तरह का कार्य किया जा रहा है । हम लोगों को कोई समय नहीं दिया जा रहा है और जबरदस्ती हमारे मकानों तथा दुकान को तोड़ा जा रहा है । एसडीएम अमेठी ने बताया कि फ्लाईओवर का निर्माण कार्य चल रहा है । इन लोगों को बताया गया है कि जितनी चौड़ाई के निशान लगाए गए हैं । इसको स्वयं तुड़वा लें अन्यथा हमको ही तोड़ना पड़ेगा । इन लोगों की मांगे हैं कि हम को समय दिया जाए हमने भी आज प्रतीकात्मक रूप से तुड़वाया है। यह लोग इसके बाद तोड़वा लेते हैं तो ठीक है यह लोग अपने मजदूर लगाएं ऐसे में किसी का 2 दिन में ड्यूटी का किसी का 10 दिन में किसी का 15 और 20 दिन में लेकिन यह दिखाई पड़ना चाहिए कि टूट रहा है।

नगर उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष अनूप अग्रवाल ने बताया कि 20 तारीख को अमेठी विधायक प्रतिनिधि के साथ व्यापारियों की बैठक हुई थी जिसमें एसडीएम अमेठी के साथ सीईओ अमेठी कोतवाल अमेठी व पीडब्ल्यूडी के अधिकारी भी मौजूद थे। हम लोगों की मांग थी कि यह लोग अपनी सीमा के अंदर निर्माण कार्य करें नाली के अंदर जो भी निर्माण कार्य करें हम को कोई समस्या नहीं है। नाली के बाहर यदि निर्माण कार्य करते हैं तो व्यापारियों का जितना भी जाता है उसका मुआवजा देना चाहिए । इसके बाद हमारी दूसरी मांग थी कि जिन व्यापारियों का व्यापार बंद हो रहा है दुकाने टूट रही हैं उनकी वैकल्पिक व्यवस्था की जाए जिससे वह अपना व्यापार थोड़ा बहुत कर सके ऐसे में टाउन एरिया की दुकानें खाली पड़ी हुई है उनको एलाट कर दिया जा जाए।

जिसके लिए टाउन एरिया ने मना कर दिया। टाउन एरिया में 9 मीटर की नोटिस दी है जबकि एसडीएम 8 मीटर के लिए कह रहे हैं ऐसे में तो टाउन एरिया जबरदस्ती पर उतारू हो गई है । लेकिन वह भी लिखित रूप में नहीं दिया जा रहा है। यह समय शादियों का मौसम है दो पैसे व्यापारी के कमाने का सीजन है। ऐसे में इस तरह का कार्य किया जा रहा है । अभी 15 दिसंबर तक लग्न का सीजन है तब तक के लिए इसको रोक दिया जाए जिससे व्यापारी को कुछ राहत मिल सके नहीं तो आखिर व्यापारी जाएगा कहां ? उधर कोरोना से अलग परेशान था। ऐसे में प्रशासन द्वारा 19 दिसंबर तक का समय दिया गया है और कहा गया है कि 19 सितंबर तक आप लोग हटा लीजिए अन्यथा की स्थिति में जेसीबी लगाकर सब तोड़ दिया जाएगा।

अमेठी से संजय यादव की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.