रायबरेली: ये डॉक्टर गुंडा है ज़मीन में गाड़ देगा!

0
798

मनीष अवस्थी

रायबरेली– कोरोना जैसी महामारी में जंहा डॉक्टरों को हर जगह सम्मानित किया जा रहा है वही कुछ चिकित्सक इस पेशे को बदनाम करने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहे है।आज ऐसा ही एक मामला सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो से तब लोगो के सामने आया जब उस वीडियो में ईलाज़ कराने आये परिजनों की बच्ची के मृत होने पर चिकित्सक उनसे अमानवीय व्यवहार करता दिख रहा है।परिजनों को खामोशी से घर जाने को कह रहा है नही तो पुलिस और गुंडों को बुलाने की धमकी दे रहा है और जमीन में गाँड़ने कई धमकी दे रहा है।

जानकारी के अनुसार परैया छतोह निवासी जावेद वारसी की 8 साल की भांजी आसिफा बीमार हो गई।परिजन उसे ईलाज़ के लिए 11 सितंबर को ईलाज़ के लिए मधुबन रोड पर संचालित प्राइवेट नर्सिंग होम लाये।अस्पताल स्टाफ ने उसे तत्काल भर्ती कर लिया और उसका ईलाज़ शुरू कर दिया।कुछ घंटों बाद आसिफा की मौत हो गई।जिसपर परिजनों ने रोना पीटना शुरू कर दिया।ये देख वंहा मौजूद चिकित्सक डॉ धीरज चंदेल ने परिजनों को धमकाना शुरू कर दिया और बचे हुए बिल की रकम जमा कर वंहा से चुपचाप चले जाने का फरमान सुना डाला।ऐसा न करने पर पुलिस बुलवा कर हवालात में भिजवाने की धमकी भी दे डाली इससे भी मन नही भरा तो गुंडों से उन्हें जमीन में गड़वाने की बात भी बोल डाली।लेकिन उनकी इस करतूत को परिजनों में से ही किसी ने मोबाइल में कैद कर लिया और आज मामला सोशल मीडिया पर आने से लोगो मे चर्चा का केंद्र बन गया।फिलहाल मामले पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीरेंद्र सिंह ने मामला संज्ञान में आने की बात कहते हुए जांच कराने की बात कही है।लेकिन सोचने वाली बात ये है कि इस तरह के चिकित्सक ही चिकित्सा जैसे पवित्र पेशे को बदनाम कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.