पुलिस कस्टडी में हुई युवक की मौत के मामले में लालगंज कोतवाल निलंबित…

0
676

मनीष अवस्थी

रायबरेली— लालगंज पुलिस की लापरवाही प्रथम दृष्टया में आने के चलते पुलिस अधीक्षक ने लापरवाही बरतने के आरोप में थाना अध्यक्ष हरिशंकर प्रजापति को प्रभाव से निलंबित कर दिया है फिलहाल अन्य दो दरोगाओं के खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच जारी है। पूरे प्रकरण में जिलाधिकारी ने यह माना है कि पुलिस द्वारा बड़ी लापरवाही की गई है शायद यही वजह है कि उन्होंने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। विदित हो कि लालगंज पुलिस द्वारा चोरी के मामले में कई लोगों को हिरासत में लिया गया था जिसमें से एक युवक की तबीयत बिगड़ने से जिला अस्पताल भर्ती कराया गया जहां उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। परिजनों द्वारा चर्चित दरोगा जेपी यादव व अरविंद मौर्या पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। हालांकि जिला पुलिस के लिए कोई नया मामला नहीं है आयदिन थाना क्षेत्रों की पुलिस नियम कानून तोड़कर पूछताछ के लिए तमाम लोगों को थाने लाती है। पुलिस की इस करतूत की शिकायतें जिला मुख्यालय पर भी आती है 24 घंटे के बजाए 5 दिन से अधिक पुलिस थाने पर लोगों को रखती है जबकि यह कानून के विरुद्ध है। नियमानुसार किसी भी व्यक्ति को पूछताछ के लिए नोटिस के तहत बुलाने का प्राविधान है या फिर पुलिस घर से लाती है तो उसके परिजनों को मामले से अवगत कराती है समय दिन घंटा सब लिखा जाता है। लेकिन आज की पुलिस चोरों की भांति जिसको जहां पाती है वहीं से लाकर थाने पर बैठा देती है। कभी-कभी ऐसी स्थिति बनती है कि लोगों को महसूस होता है कि अपहरण कर लिया गया है। तमाम ऐसे मामले प्रकाश में आए जिसमें बाद में पता चला कि क्राइम ब्रांच या फिर थाने की पुलिस किसी मामले में पकड़ कर ले गई है। पुलिस द्वारा इस तरह के बर्ताव और लापरवाही पर संबंधित अधिकारियों को गौर करने की जरूरत है नहीं तो ऐसे ही पुलिस अभिरक्षा में लोगों की मौतें होती रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.