डीएम ने मेधावी छात्राओं को प्रशस्ति पत्र व आम का वृक्ष देकर किया सम्मानित…

0
437

मनीष अवस्थी


डीएम ने मेधावी छात्राओं को आम के वृक्ष व प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्मानित


पढ़ाई के साथ ही रचनात्मक व सकारात्मक कार्यो को दे तरजीह: डीएम


अधिक से अधिक वृक्षों का रोपण कर जनपद को अधिक बनाये हरा-भरा: शुभ्रा सक्सेना


रायबरेली -जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कलेक्ट्रेट कक्ष में कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत रखते हुए उत्तर प्रदेश बोर्ड के हाईस्कूल व इण्टरमीडिएट के उत्तीर्ण मेधावी छात्राओं को प्रशस्त्रि पत्र व आम के वृक्ष देकर सम्मानित किया। उन्होंने हाईस्कूल व इण्टरमीडिएट बोर्ड की परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं को बधाई देने के साथ ही उनके मंगलमय भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राए आगे भी मन लगा कर पढे तथा अपना, जनपद, प्रदेश व देश का नाम रोशन करें। मेधावी बच्चें रचनात्मक व सकारात्मक कार्यो को तरजीह देकर विकास की गति को आगे बढ़ाने में सहयोग करें। वन नीति के अनुसार 33 प्रतिशत वृक्षों का होना जरूरी है यह तभी सम्भव है जब हम सबकों को मिलकर अधिक से अधिक वृक्षों का रोपण व संरक्षण कर जनपद को अधिक हरा-भरा बनाने में सहयोग करे।
जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने उ0प्र0 मदरसा शिक्षा परिषद, लखनऊ द्वारा संचालित आलिया/उच्च आ.लिया स्तर में के परीक्षा वर्ष 2020 में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को भी बधाई दी है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी द्वारा जानकारी देते हुए बताया है कि सम्मिलित परीक्षार्थियों का परीक्षाफल परिषद जनपद में सेकेन्डरी, सीनियर सेकेन्डरी, कामिल व फाजिल में पंजीकृत 1254 परीक्षार्थियों में से 1008 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए तथा 979 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। जनपद का परीक्षाफल 97.12 प्रतिशत है। मदरसा एदारा-ए-शरैय्या उ0प्र0 खिन्नीतल्ला, रायबरेली के सीनियर सेकेन्डरी का परीक्षार्थी मो0 नईम पुत्र मो0 वकील ने 96.80 प्रतिशत अंक प्राप्त करते हुए पूरे प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करते हुए जनपद रायबरेली का नाम गौरवान्वित किया है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सुनीता देवी, एडी सूचना प्रमोद कुमार, मो0 राशिद रियाज अंसारी ने छात्र और प्रबन्धक/प्रधानाचार्य मदरसा को बधाई दी तथा मदरसा परिवार ने भी छात्र एवं उसके परिवार को बधाई दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.