बेटी की शादी के लिये मजदूर ने जोड़ी पाई-पाई,चोरों ने हाथ साफ किया—

0
540

रिपोर्ट मुकेश मिश्रा

इसी 30 जून को थी बेटी की शादी

—चोरी के बाद शादी टूटने की नौबत

मोहनलालगंज। बेटी की दस दिन बाद होने वाली शादी के लिये पाई-पाई जोड़कर निगोहा के कुशमौरा गांव के गरीब किसान ने सोने-चांदी के जेवरात ,कपड़े,बर्तन सहित दहेज का सामान खरीदकर घर में रख रखा था, शादी में खर्च के लिये नगदी भी जुटाई थी,शुक्रवार की देर रात बैखोफ चोरो ने किसान के घर धावा बोलकर अलमारी,बक्शो का ताला तोड़कर उसमें रखे जेवरात,नगदी सहित सारा सामान चुरा ले गये,शनिवार की सुबह  परिजन सोकर उठे तो कोहराम‌‌ मच गया।जिसके‌ बाद पीड़ित किसान ने पुलिस को फोन चोरी की घटना की सूचना दी।

निगोहा के कुशमौरा गांव निवासी गरीब किसान शिवलाल ने बताया उसने अपनी बेटी की शादी रायबरेली से तय की थी, 30 जून को बारात आनी थी,बेटी को देने के लिये पाई-पाई जोड़कर दो लाख रूपये कीमत के सोने-चांदी के जेवरात, कपड़े,बर्तन सहित दहेज में देने के लिये अन्य सामान खरीदा था,वही शादी में खर्च के लिये बीस हजार रूपये भी इकट्ठा किये थे।शुक्रवार को परिजनो के सोने के बाद देर रात घर में दाखिल हुये चोर अलमारी,बक्सो को तोड़कर उसमें रखे जेवरात,नगदी ,कपड़े बर्तन सब चुरा ले गये।शनिवार की सुबह परिजन सोकर उठे तो उन्हे चोरी की घटना का पता चला जिसके‌ बाद बेटी की शादी की तैयारी की खुशिया मातम में बदल गयी,वही ग्रामीणो को गांव के बाहर तालाब किनारे खाली बक्सा,सहित झोले पड़े मिले।वही बेटी की शादी के लिये जुटाया गया सारा सामान चोरी होने के बाद गरीब किसान शिवलाल के आगे बेटी के हाथ पीले करने का संकट खड़ा हो गया है, बेटी की शादी तोड़ने के शिवा कोई रास्ता नही सूझ रहा है।

सूचना के सात घंटे बाद मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी…

डीजीपी सहित पुलिस के उच्चाधिकारियों ने सूचना के बाद थानो के प्रभारियों को घटना स्थलो पर तत्काल पहुंचने के निर्देश दे रखे है लेकिन शायद निगोहा इस्पेक्टंर प्रेम सिहं के लिये अपने‌ उच्चाधिकारियों के आदेश माईने नही रखते इस लिए वो घटना स्थलो पर जाना भी उचित नही समझते,बस दारोगाओ या सिपाहियों‌ को भेजकर खानापूर्ति करते है,शनिवार को किसान शिवलाल के घर हुयी चोरी की बड़ी घटना की जानकारी होने के कई घंटे बाद भी निगोहा थाना प्रभारी प्रेम सिहं ने मौके पर जाकर छानबीन करना उचित नही समझा,पूरे मामले का सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल हुआ तो एसपी(ग्रामीण)आदित्य लांग्हे ने थाना प्रभारी प्रेम सिहं को फटकारा तो सात घंटे बाद मौके पर पहुंचकर छानबीन के नाम पर खानापूर्ति कर वो चलते बने।

पीड़ित किसान को पांच घंटे थाने में बिठाया…..

पीड़ित किसान शिवलाल ने आरोप लगाते हुये बताया हल्के के दारोगा नसीम अहमद सिद्दीकी ने उन्हे थाने बुलाया पुछताछ की फिर चोरी की मनमाफिक तहरीर लेकर मुकदमा दर्ज कर कापी देने की बातकर पांच घंटे थाने में बिठाये रखा,लेकिन देर शाम तक पुलिस‌ ने मुकदमा दर्ज कर उसकी कापी नही दी जिसके बाद वो परेशान होकर घर चला गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.