आज से खुलेंगे मंदिर मस्जिद,दो गज की दूरी के साथ मास्क पहनना जरूरी——

0
380

रिपोर्ट मुकेश मिश्रा

पोलिगान टीम की नजर रहेगी चप्पे-चप्पे पर

मोहनलालगंज।अनलॉक एक में आज से सभी धार्मिक स्थल खुल जाएंगे। रविवार को एडीसीपी(दक्षिणी) व एसीपी सजीव कुमार सिन्हा ने मोहनलालगंज,गोसाईगंज थानों में धर्मगुरुओं संग बैठक कर निर्णय लिया। गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के पालन की हिदायत दी। सामाजिक दूरी का पालन, मास्क लगाने संग मंदिर-मस्जिद में कम संख्या में लोगों के प्रवेश के लिए कहा। गृह मंत्रालय की गाइडलाइन और शासन का पत्र आने के बाद पुलिस और प्रशासन की ओर से धार्मिक स्थलों को खोलने की तैयारी शुरू कर दी गई। रविवार को मोहनलालगंज व गोसाईगंज थानो में एडीसीपी(दक्षिणी) सुरेश चन्द्र रावत ने एसीपी संजीव कुमार सिन्हा सहित प्रभारी निरीक्षक जीडी शुक्ला,धीरेन्द्र प्रताप कुशवाहा ने धर्मगुरुओं संग बैठक कर मंत्रणा की।एडीसीपी ने कहा कि प्रत्येक दशा में गाइडलाइन का पालन होना चाहिए। सोशल डिस्टेंस, मास्क लगाने और सैनिटाइजर जरूरी है। यदि इसका पालन नहीं हुआ तो जांच में पकड़े जाने पर दो साल जेल की सजा होगी।एसीपी संजीव कुमार सिन्हा ने कहा कि सोमवार से मंदिर और मस्जिद खुल जाएंगे। एक साथ पांच से अधिक लोग अंदर नहीं जाएंगे। पांच-पांच की संख्या में बारी-बारी से लोग दर्शन-पूजन के लिए जाएंगे। मंदिरों में दर्शन के समय मूर्ति स्पर्श नहीं करेंगे, आरती नहीं होगी, घंटे को स्पर्श नहीं किया जाएगा। मस्जिदों में लोग एक चटाई का प्रयोग नहीं करेंगे।एसीपी ने प्रभारी निरीक्षको सहित पुलिसकर्मियों को मंदिर ,मस्जिदो,सहित मुख्य बाजारो,कस्बो में पैदल गश्त कर लाकडाउन के नियमो का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिये।इस मौके पर धर्मगुरूओ सहित सभ्रान्त लोग मौजूद रहे।

अपराधियो पर नकेल संधिग्धो की चेकिंग पोलिगान टीम करेगी——

रविवार को एडीसीपी सुरेश चंद्र ने टीम को संबोधित करते हुए कहा पोलिगान की पांच टीम मोहनलालगंज थाना क्षेत्र में है ये टीमें शिफ्ट के हिसाब से रात दिन अपने चेकिंग पॉइंट पर रहेगी।और ये टीम संधिग्ध वाहनों को चेकिंग के साथ इलाके के संधिग्धो का लेखा जोखा अपने पास रखेगी बैंक, एटीएम पर भी नजर रखेगी पुलिस दबिश में अपनी मदद देगी।

कोरोना यौद्धाओ को व्यापर मडंल ने सम्मानित किया—इस मौके पर व्यापर मंडल अध्यक्ष सुजीत पांडेय ने कोरोना यौद्धाओ को अंग वस्त्र के साथ फूल माला पहनाकर सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.