अमेठी: बिन मौसम बारिश से किसानों की फसलों को भारी नुकसान

0
526
शुकुल बाज़ार अमेठी: शुक्रवार को बिन मौसम में आए बदलाव का असर उत्तर भारत में भी दिखाई दे रहा है। गुरुवार रात से गरज के साथ शुरू हुई बारिश शुक्रवार सुबह से ही कई जिलों में बारिश के साथ ओले पड़े हैं।

जिससे फसलों को काफी नुकसान हुआ है। खासकर गेहूं की बढ़ी हुई फसलें खेतों में बिछ गई है। जिससे अब उसके दाने कमजोर पड़ेंगे और इसका असर पैदावार पर पड़ेगा। वहीं सरसों की फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। बारिश, ओले और तेज हवाओं के बाद किसानों के चेहरे पर सिकन दिखाई दे रही है।अगर अमेठी जिले की बात करें तो यहां भी बारिश और तेज हवाओं ने गेहूं की फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है। खड़ी फसल खेतों में बिछ गई है, जिससे किसान परेशान हैं और एक बार फिर उनकी गाढी कमाई पर मौसम की मार पड़ी है। गौरीगंज के भटकवां निवासी मोहम्मद ताहिर फारुकी ने बकायदा गेहूं की गिरी फसलों की फोटो को ट्वीट कर अमेठी के जिलाधिकारी अरुण कुमार तक पहुंचाई है और बर्बाद हुई फसलों के लिए मुआवजे की मांग की है। डीएम अरुण कुमार ने भी इसका रिप्लाई करते हुए मदद का भरोसा दिया है।

इसके अलावा राजधानी लखनऊ, बाराबंकी, बहराइच, सुल्तानपुर, फैजाबाद, आगरा, अलीगढ, बहराईच, बरेली, गोरखपुर, हरदोई, कानपुर, मेरठ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर समेत कई जिलों में भारी बारिश से फसलों को नुकसान पहुंचा है।
भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार अगले 24 घंटों में उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और उत्तराखंड के पश्चिमी तथा मध्य भागों में बारिश जारी रहने की संभावना जताई है। इस दौरान उत्तराखंड में एक-दो स्थानों पर बर्फबारी भी हो सकती है। मौसम में आये इस बदलाव के कई कारण हैं। मौसम विभाग के मुताबिक पहला कारण हिमाचल प्रदेश और आस-पास के क्षेत्र में बना पश्चिमी विक्षोभ है, तो दूसरा कारण हरियाणा और उसके आस-पास के क्षेत्र में बना एक साईक्लोनिक सर्कुलेशन है। बंगाल की खाड़ी से दक्षिणी-पूर्वी नम हवाएं चल रही हैं, जिसके चलते ही प्रदेश में बारिश हो रही है।

अमेठी से सफीर अहमद की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.