मोहनलालगंज:झोलाछाप डॉक्टरों के विरूद्ध स्वास्थ्य विभाग ने खोला मोर्चा

0
123

मोहनलालगंज: क्षेत्र में चल रहे झोलाछाप डॉक्टरों के विरुद्ध जांच में तमाम अनिमित्ताए मिली जिससे क्षेत्र में हड़कंप मच गया । मोहनलालगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ मिलिंद वर्धन ने पांच सदस्यीय टीम के साथ झोलाछाप डॉक्टरों के दवा खा नों पर जांच करने पहुंचे जिसमें सिसेंडी मीनापुर नर्सिंग होम एवं क्लीनको की निरीक्षण किया जय हिंद क्लीनिक सिसेंडी में बच्चा राय मौजूद मिले जिनसे अभिलेख प्रस्तुत करने के लिए कहा गया तो कोई कागजात नहीं दिखा सके ।

मधुर मेडिकल स्टोर सिसेंडी पर मौजूद रामविलास के स्टोर पर कुछ मरीजों की पैथोलॉजी जांच रिपोर्ट मिली परंतु कोई मरीज नहीं मिले जब अभिलेखों का ब्यौरा मांगा गया तो नहीं दिखा सके। इमरान मेडिकल स्टोर में मेडिकल स्टोर खाद्य एवं औषधि विभाग में पंजीकृत मिले । सुश्रुत पाली क्लीनिक क्लीनिक में डॉक्टर समरजीत पाल मिले जिन्होंने अपनी डिग्री बीएएमएस बताया लेकिन किसी भी प्रकार का अभिलेख प्रस्तुत नहीं कर सके ।एमआई पॉलीक्लिनिक सिसेंडी में खबर लगते ही चिकित्सक ताला लगाकर भाग खड़े हुए।

उजाला पॉलीक्लिनिक सिसेंडी में डॉक्टर हरेंद्र सिंह मिले जिन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया । प्रकाश हॉस्पिटल मीनापुर में इ एम ओ डॉ एस के सिंह बीएएमएस मिले जहां पर एक 15 वर्षीय बालक , अमन शिवराज खेड़ा भर्ती मिला था ।परंतु चिकित्सक से अभिलेख प्रस्तुत करने को कहा गया , लेकिन कुछ भी दिखा नहीं सके आर बी श्याम मेडिकल स्टोर में मरीज राजेश नवाबगंज, सतीश धनुवा साड़ जिनका हर्निया का ऑपरेशन हुआ था परंतु कोई डॉक्टर नहीं मिला। यहां पर ओ टी व बायो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण सुचारू रूप से नियमों के अनुरूप नहीं किया जा रहा इसपर चेतावनी दी गई । पंजीकरण प्रमाण पत्र पर अंकित डॉक्टरों के नाम से भिन्न मिले। जहां पर इंजेक्शन मिले जो जून 2019 में एस्पायर हो चुके थे । दवाये भी मिली तथा फार्मेसी संचालित की जा रही थी परंतु लाइसेंस और फार्मासिस्ट नदारद थे । आरबी श्याम मेडिकल सेंटर में काफी मात्रा में अनियमितताएं मिली सभी मेडिकल स्टोरों नर्सिंग होम एवं क्लीनको को दो दिन का समय अभिलेख प्रस्तुत करने के लिए दिया गया है।अधीक्षक डॉ मिलिंद वर्धन ने बताया कि इस पांच सदस्यीय टीम में आर के शुक्ला, के के सिंह ,आनंद मोहन त्रिपाठी, मधुर गुप्ता मौजूद थे ।इसके साथ ही झोला छाप डॉक्टरों के विरुद्ध जांच जारी रहे गी ।समस्त कार्यवाही के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को अवगत करा दिया गया है ।

शिव बालक गौतम की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.