साफ-सफाई एवं अद्यतन रिकार्ड न पाये जाने पर थानाध्यक्ष के लिखाफ होगी कार्यवाई-DM

0
316

सुल्तानपुर से वाजिद हुसैन की रिपोर्ट

सुलतानपुर: जिलाधिकारी सी इन्दुमती ने आज कोतवाली देहात का आकस्मिक निरीक्षण किया तथा गहराई के साथ अभिलेखों का परीक्षण एवं सत्यापन भी किया। अभिलेखों के अद्यतन न पाये जाने पर सम्बन्धित दीवान(मुंशी) के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।
28 अगस्त की मध्यान्ह में जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती थाना कोतवाली देहात पहुंची। वहां पहुंचकर उन्होंने कोतवाली परिसर एवं विभिन्न पटलों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी को थाने में निर्मित शौंचालय में अत्याधिक गन्दगी मिली, वहीं जगह-जगह पान की पीक दिखाई पड़ी। इस पर जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष से अत्याधिक अप्रसन्नता व्यक्त की तथा शौंचालयों सहित समस्त कोतवाली परिसर की बेहतर साफ-सफाई रखने के निर्देश थानाध्यक्ष को दिये। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत के अन्तर्गत हम सभी का कर्तव्य है कि हम अपने आस-पास बेहतर सफाई रखें। उन्होंने कहा कि पुनः निरीक्षण के दौरान यदि कोतवाली परिसर में अथवा पटलों के आस-पास गन्दगी पायी गयी, तो थानाध्यक्ष को दोषी मानते हुए उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी।
अभिलेखों के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने तैनाती रजिस्टर, रजिस्टर नं0-04 (अपराध रजिस्टर), गैंगेस्टर रजिस्टर, समाधान एवं सम्पूर्ण समाधान रजिस्टर, शस्त्र लाइसेन्स रजिस्टर, पासपोर्ट रजिस्टर, चरित्र सत्यापन रजिस्टर, जमानत सत्यापन रजिस्टर, विलेज अपराध रजिस्टर आदि का गहराई से परीक्षण/सत्यापन किया। अपराध रजिस्टर के निरीक्षण के दौरान 363 केस पंजीकृत पाये गये। 26 अगस्त को मात्र 01 केस दर्ज पाया गया। इस माह के 41 केसों में 03 केसों में सी0एस0 लगाया गया, 01 केस महिला थाने को स्थानान्तरित किया गया, 26 केसों का निस्तारण पाया गया, परन्तु अभिलेखों में सही तरीके से अंकन नही पाया गया। इस पर जिलाधिकारी ने अभिलेखों में अंकन करने वाले दीवान/मुंशी बृजबहादुर से क्षेत्राधिकारी लम्भुआ के माध्यम से स्पष्टीकरण तलब किया। तैनाती रजिस्टर के निरीक्षण के दौरान भी अंकन अद्यतन नहीं पाया गया। सब इंस्पेक्टर के स्वीकृत पद 06 के सापेक्ष 09 पद, हेड काॅस्टेबल 03 तीन के सापेक्ष 05, काॅस्टेबल 20 के सापेक्ष 32 तथा महिला पुलिस 10 स्वीकृत पद के सापेक्ष 10 पाये गये।
समाधान एवं सम्पूर्ण समाधान दिवस रजिस्टर के निरीक्षण में गत 17 अगस्त को हुए सम्पन्न समाधान दिवस में प्राप्त 30 शिकायती प्रार्थना पत्रों में 12 का निस्तारण पाया गया। इसी प्रकार गत सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त 09 शिकायती प्रार्थना पत्रों में 08 का निराकरण पाया गया। जिलाधिकारी ने समाधान एवं सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त होने वाले शिकायती प्रार्थना पत्रों का समयान्तर्गत निस्तारण करने के निर्देश थानाध्यक्ष को दिये। पासपोर्ट रजिस्टर में लगभग एक माह में 30 से 40 पासपोर्ट प्राप्त होते हैं। इस माह में 24 प्राप्त हुए, जिसमें 04 पर अपराधिक मामले होने पर वापस कर दिये गये। गुण्डा एक्ट में 07 केस दर्ज पाये गये तथा 07 का निस्तारण पाया गया। धारा-133 के 04 तथा धारा-143 का 01 दर्ज पाया गया। निरीक्षण के दौरान महिला उत्पीड़न रजिस्टर, निरीक्षण रजिस्टर, आकास्मिक रजिस्टर, अनुसूचित जाति/ जनजाति रजिस्टर, त्यौहार रजिस्टर आदि नहीं पाये गये। थानाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि यह सभी रजिस्टर पुलिस अधीक्षक के पास निरीक्षण हेतु प्रेषित किये गये हैं।
अभिलेखों के निरीक्षण के उपरान्त जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती ने थानाध्यक्ष शरद कुमार को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि समस्त अभिलेखों का तत्काल अद्यतन कराना सुनिश्चित करें। एक सप्ताह उपरान्त पुनः उनके द्वारा निरीक्षण किया जायेगा। पुनः निरीक्षण के दौरान यदि अभिलेख अद्यतन नहीं पाये गये, तो उनके खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। इसके साथ ही भारी संख्या में कोतवाली परिसर में खड़े दो पहिया एवं चार पहिया वाहनों के नीलामी तथा कोतवाली परिसर में वाल बाउण्ड्री न होने पर आंगणन बनाते हुए अग्रसारित करने के निर्देश दिये। इससे पूर्व जिलाधिकारी ने पुरूष एवं महिला बन्दीगृह, सम्पत्ति गृह, थानाध्यक्ष कार्यालय तथा अन्य पटलों सहित सम्पूर्ण कोतवाली परिसर का बारीकी से निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त मजिस्ट्रेट भूमिका यादव भी उपस्थित रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.