शुकुल बाजार-नवनिर्मित गौशाला में जानवरों के चारा न होने से पांच जानवरो की मौत

0
664

अमेठी के शुकुल बाजार के मवैया रहमत गढ़ के रहमत गढ़ गांव में आवारा पशुओं के लिएबने नवनिर्मित
गौशाला इसी सत्र में निर्माण हुआ क्षेत्रवासियों एवं ग्रामवासियों का आरोप है कि चारा भूसा के अभाव में लगातार पशुओं की मौत हो रही है जिससे आक्रोशित गांव वालों ने विश्व हिंदू परिषद और हिंदू युवा वाहिनी के उप जिला अध्यक्ष को अवगत कराया तत्काल घटना की जानकारी होने से हिंदू युवा वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष रमेश तिवारी विश्व हिंदू परिषद के जिला उपाध्यक्ष अवधेश मिश्रा कुछ क्षेत्रवासी और रहमत गढ़ गांव के सैकड़ों लोगो के साथ गौशाला में एकत्रित हुए जहां पर चारा भूसा नहीं था गौशाला के कर्मचारी मुकेश कुमार और रामचंद्र ने बताया 2 दिन से भूसा खत्म है तथा अभी तक जानवरों के पांच छोटे बच्चे मर चुके हैं जिनकी मौत चरही मे ना पहुंच पाने की वजह से हुई जिसके लिए अब अलग व्यवस्था की गई है जिससे जानवरों के छोटे बच्चे भी चारा भूसा खा सकें वहीं ग्रामीणों का कहना है कि गौशाला में पिछले 15 दिन से भूसा नहीं है और पांच ही नहीं लगभग 10 जानवरों की मौत भूख प्यास से तड़प कर हुई है मौके पर अवधेश नारायण तिवारी रामजी तिवारी दिनेश तिवारी प्रशांत मिश्रा अनूप तिवारी रामकुमार चौरसिया नन कउ साहू गंगाराम रैदास जीतू तिवारी हरिश्चंद्र आदि ग्रामवासी मौजूद रहे विश्व हिंदू परिषद और हिंदू युवा वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष ने घटना से जिला अधिकारी और उप जिला अधिकारी को अवगत कराया जिला अधिकारी और उप जिलाधिकारी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए शुकुल बाजार में नियुक्त दोनों खंड विकास अधिकारियों उर्मिला देवी सरला देवी तथा पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ योगेश यादव को मौके पर जाकर निरीक्षण करने के लिए कहा और स्वयं उप जिला अधिकारी महोदय मामले की गंभीरता और गोवंश की समस्या को संज्ञान में लेते हुए मौके पर पहुंचे तथा जिम्मेदार लोगों को कड़ी फटकार लगाई
जानवरों के लिए तत्काल भूसा चारा का प्रबंध किया एवं बताया मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा 1 जून को ग्राम प्रधान और सचिव के संयुक्त खाते में एक लाख की धनराशि गोवंश के देखरेख और चारे भूसे के प्रबंध के लिए भेजी गई है उन्होंने यह भी बताया कि प्रति जानवर 30 रुपया प्रतिदिन के हिसाब से जानवरों के चारा भूसा के लिए दिया जाता है प्रतिदिन चिकित्सा अधिकारी तथा खंड विकास अधिकारी गौशाला का निरीक्षण करेंगे एवं गौशाला की देखरेख के लिए अभी दो आदमी नियुक्त है दो आदमियों की नियुक्ति और होगी किसी भी प्रकार से गोवंश को कोई भी परेशानी नहीं होने पाएगी हमारा फर्ज है दायित्व है हम किसी भी गौवंश को मरने नहीं देंगे तथा नवादा में हमारा स्थाई गौशाला निर्मित हो रहा है जिस गौशाला में परेशानी एवं अव्यवस्था देखी जाएगी वहां के गौ सालों से गोवंशओं को स्थाई गौशाला नवादा में स्थानांतरित किया जाएगा इतनी बड़ी जांच होने से क्षेत्र मैं हड़कंप मच गया क्योंकि गोवंश के 5 बच्चों की मौत भी हुई थी और जिनकी मौत संभवत चारा और भूसा ना पाने वजह से हुई ऐसा ग्रामवासियों का कहना है और वहां तैनात कर्मचारी का भी कहना है फिलहाल मामले को संज्ञान में लेते हुए उप जिला अधिकारी दोनों खंड विकास अधिकारी डॉक्टर तथा शुकुल बाजार थाने से फोर्स मौके पर पहुंची और निरीक्षण करते हुए सारी कमियों को दुरुस्त करने का आश्वासन उप जिला अधिकारी ने दिया तथा मौके पर चारा भूसा का प्रबंध कराया उप जिला अधिकारी ने बताया अस्थाई गौशाला के प्रबंधन समिति का दायित्व ग्राम प्रधान का होता है ग्राम प्रधान और सचिव के संयुक्त खाते में जानवरों के देख रेख चारा भूसा के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा धनराशि आवंटित की जाती है ग्रामीणों का आरोप है कि चारे भूसे के अभाव में जहां जानवरों की एक तरफ मौत हो रही है वहीं दूसरी तरफ जानवर गौशाला से निकल कर आसपास के किसानों के खेतों को चर जाते हैं जिससे किसानों को भारी नुकसान भी हो रहा है फिलहाल उप जिला अधिकारी के आश्वासन के बाद और जानवरों को चारा भूसा के प्रबंध कराए जाने के बाद हिंदू युवा वाहिनी और विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी कार्यकर्ता एवं ग्रामीण शांत हुए।।

रिपोर्ट सुरेन्द्र शुक्ला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.