शिवगढ़-निशांत की मौत ने पकड़ा तूल,मां के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज

0
475

शिवगढ़,रायबरेली। शिवगढ़ थाना क्षेत्र के शिवगढ़ कस्बे में 11 जून को केंद्रीय विद्यालय शिवगढ़ के कक्षा 7 के छात्र निशांत सिंह उर्फ यस पुत्र नागेंद्र प्रताप सिंह की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। ज्ञात हो कि 12 वर्षीय निशांत सिंह उर्फ यस का शव फंदे से लटकता मिला था। जिसकी खबर से क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मां सरिता सिंह की तहरीर पर मृतक निशांत सिंह के शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया था। मामले ने उस समय तूल पकड़ लिया जब शिवगढ़ थाने पहुंचे मृतक निशांत सिंह के बाबा कन्हैया बक्स सिंह पुत्र हरिनारायण सिंह निवासी पूरे विशेनन ने थाने में तहरीर देकर मृतक की मां सरिता पर साथियों के साथ मिलकर हत्या करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। विदित हो कि शिवगढ़ कस्बे में 11 जून दिन मंगलवार को निशांत उम्र 12 वर्ष जो कि केंद्रीय विद्यालय में कक्षा 7 का छात्र था शाम 6 बजे निशांत की मां सरिता सिंह जब सक्षम से छुट्टी पाने के बाद घर वापस आयी तो बेटा निशांत फांसी के फंदे पर झूल था। जिनकी चीख-पुकार सुनकर पहुंचे लोगों द्वारा कमरे का दरवाजा खोलकर फंदे से निशांत को नीचे उतारा गया।बताते चलें कि सरिता सिंह ग्राम गौहनिया थाना गौरीगंज जनपद अमेठी की रहने वाली हैं पति नागेंद्र की मौत के बाद से सरिता अपने बेटे को केंद्रीय विद्यालय में पढ़ाने के लिए शिवगढ़ में प्राइवेट संस्था सक्षम में नौकरी कर किराए के मकान में रह रही थी 11 जून को सब कुछ ठीक-ठाक था सरिता सुबह 9 बजे सक्षम चली गई छुट्टी के बाद साय 6 बजे वापस आई तो देखा कि बेटा निशांत कमरे में दुपट्टे से फांसी के फंदे में झूल रहा था इतना देखकर सरिता सिंह बेहोश होकर गिर पड़ी सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक निशांत ही अपनी मां सरिता का एक मात्र सहारा था। सोमवार को मृतक निशांत के बाबा कन्हैया बक्स सिंह पुत्र हरिनारायण सिंह ने मृतक की मां पर साथियों के साथ मिलकर हत्या का आरोप लगाते हुए शिवगढ़ थाने में मुकदमा दर्ज कराया। शिवगढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक अजीत कुमार विद्यार्थी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से लगता है कि बच्चे ने आत्महत्या की है। लड़के के बाबा की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है यदि वास्तव में हत्या हुई है तो दोषी बख्शे नहीं जाएंगे सलाखों के पीछे होंगे।
उधर लड़के के बाबा व उसके परिजन पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर भी सवाल उठा रहे हैं उनका कहना है कि रिपोर्ट को बदला या गया है इसके लिए हम कोर्ट जायेंगे।

ब्यूरो रिपोर्ट मनीष अवस्थी(बीनू)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.