शिवगढ़- नहरों की सफाई के नाम पर खेल

0
414

कागजों पर हो जाती है नहरों की सफाई ,सिल्ट से पटी पड़ी बारी माइनर की 3 वर्ष से नहीं हुई सफाई

शिवगढ़,रायबरेली। शिवगढ़ क्षेत्र में नहरों की सफाई के नाम पर वर्षों से खेल हो रहा है। सिंचाई विभाग खण्ड 28 की लापरवाही का यह आलम है कि जौनपुर ब्रांच से फूटी शिवगढ़ क्षेत्र की बारी माइनर की 3 वर्षों से सफाई नही कराई गई। ग्रामीणों का आरोप है कि सिंचाई विभाग द्वारा हर बार कागजों पर नहरों की सफाई कराकर लाखों रुपया डकार लिया जाता है। जिसका जीता जागता प्रमाण सिल्ट से पटी पड़ी शिवगढ़ क्षेत्र की बारी माइनर है। जिसमें हेड से टेल तक पानी ना पहुंचने के चलते पूरे मुराईन, सीवन, पूरे छत्ता, पूरे सुब्बा, अहिरन का पुरवा, राजापुर, गोपालपुर, अमिलिहा, खरहरा, बारी, पंडित का पुरवा सहित एक दर्जन से अधिक गांवों के कृषकों की धान की नर्सरी सूख कर चौपट होने की कगार पर है। कृषक वीर बहादुर सिंह, जंग बहादुर सिंह, कृष्ण बहादुर सिंह, रामदेव गुप्ता,छेदद् पासी, सहज राम यादव, रामकेश लोधी, गंगा यादव, रामदेव सहित क्षेत्र सैकड़ों कृषकों ने सिंचाई विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस पार्टी के शिवगढ़ ब्लॉक अध्यक्ष दिग्विजय सिंह उर्फ मुन्ना भैया को रायबरेली सांसद सोनिया गांधी के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपकर बारी माइनर की सफाई कराने की मांग की है। आक्रोशित कृषकों का कहना है कि यदि जल्द ही बारी माइनर की सफाई नही कराई गई तो आंदोलनात्मक रणनीति बनाकर सिंचाई विभाग के खिलाफ मोर्चा खोला जाएगा। इस बाबत बात करने के लिए जब जिम्मेदार अवर अभियंता राजेंद्र सिंह राठौर का फोन मिलाया गया तो उनका फोन स्विच ऑफ मिला।

ब्यूरो रिपोर्ट मनीष अवस्थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.