डलमऊ- गंगा में लाखों मछलियां मरने से बड़ा संक्रमण फैलने का खतरा,पानी कम की वजह से बंद किया गया पंप कैनाल

0
448

डलमऊ रायबरेली कस्बे में गंगा नदी से निकले कैनाल पंप डलमऊ को गंगा नदी में पानी कम होने के कारण बंद कर देने से प्रथम सोपान से द्वितीय सोपान तक डलमऊ कस्बे में लगभग 3 किलोमीटर दूरी तक नहर में लाखों मछलियां मर गई मछलियों के मर जाने से नहर का पानी दूषित हो रहा है जिसे पीकर जानवर बीमार हो जाएंगे और मछलियों की गंध से कस्बे में संक्रामक बीमारी का खतरा मंडराने लगा है नगर पंचायत अध्यक्ष उपेंद्र दत्त गौड़ ने बताया कि प्रतिवर्ष भीषण गर्मी के चलते गंगा नदी का जलस्तर कम हो जाने पर कैनाल पंप बंद कर दिया जाता है जिससे गंगा नदी के पानी में जहरीले तत्व की अधिकता हो जाती है जिसे नदी के साथ-साथ कैनाल पंप नहर में सैकड़ों कुंटल मछलियां मर जाती है प्रतिवर्ष प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कर्मचारी खानापूर्ति के नाम पर नदी के पानी का सैंपल ले जाकर ठंडे बस्ते में डाल देते हैं लेकिन इसका स्थाई निराकरण अब तक नहीं किया जा सका जिससे जलीय जीवो का जीवन खतरे में पड़ जाता है और लाखों मछलियां मर जाती हैं और सूचना के बावजूद भी क्षेत्रीय प्रशासन मूकदर्शक बना रहता है ।कस्बा वासियों द्वारा क्षेत्रीय प्रशासन से कैनाल पंप डलमऊ को चालू करवा कर मरी हुई मछलियों से उत्पन्न होने वाले बीमारी से निराकरण की मांग की है।

ब्यूरो रिपोर्ट मनीष अवस्थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.